क्या है हिरण शिकार मामला, जो 1998 से पीछे पड़ा है सलमान खान के

आरोप है कि जोधपुर के पास भवाद गांव में 26-27 सितंबर 1998 की रात में काले हिरण शिकार किया गया था. 

क्या है हिरण शिकार मामला, जो 1998 से पीछे पड़ा है सलमान खान के
बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान. (फाइल फोटो)

जोधपुर/राजीव गौड़/राकेश भारद्वाज: सलमान खान पर हिरण शिकार मामले में कुल चार केस दर्ज हुए थे. सलमान समेत अन्य आरोपियों पर मथानिया और भवाद में दो चिंकारा के शिकार के दो अलग-अलग मामले, कांकाणी में हिरण शिकार मामला और लाइसेंस समाप्त हो जाने के बाद भी रायफल रखने का आरोप है. हिरण शिकार का तीसरा केस कंकाणी गांव में 1-2 अक्टूबर 1998 की रात दो काले हिरणों के शिकार का है. ये मामला आर्म्स ऐक्ट में अतिरिक्त अभियोग लगने की वजह से जुलाई 2012 तक लंबित रहा. दो चिंकारा शिकार के मामले में सलमान खान को पहली बार 17 फरवरी 2006 को जोधपुर की निचली अदालत से एक साल की सजा हुई थी. आरोप है कि जोधपुर के पास भवाद गांव में 26-27 सितंबर 1998 की रात में शिकार किया गया था. 

सलमान को काले हिरण के शि‍कार मामले में 10 अप्रैल 2006 को पांच साल की सजा हुई. शिकार का यह मामला जोधपुर के मथानिया के पास घोड़ा फार्म में 28.29 सितंबर 1998 की रात का है, लेकिन बाद में जोधपुर हाई कोर्ट से उन्हें जमानत मिल गई. 25 जुलाई 2016 को राजस्थान हाई कोर्ट ने सलमान को बरी कर दिया. इस मामले में कुल 12 आरोपी थे. 

घोड़ा फार्म हाउस शिकार मामले में सलमान को 10 से 15 अप्रैल 2006 तक 6 दिन जोधपुर केंद्रीय कारागार में रहना पड़ा. सेशंस कोर्ट द्वारा इस सजा की पुष्टि करने पर सलमान को 26 से 31 अगस्त 2007 तक जेल में रहना पड़ा था. हिरण शिकार का तीसरा केस कंकाणी गांव में 1-2 अक्टूबर 1998 की रात दो काले हिरणों के शिकार का है. 

1998 का मामला
सलमान और बॉलीवुड के अन्य सितारों पर 1-2 अक्टूबर, 1998 को फिल्म 'हम साथ-साथ हैं' की शूटिंग के दौरान काले हिरण के शिकार का आरोप है. सलमान पर गैरकानूनी हथियार रखने व इनका इस्तेमाल करने का भी आरोप है. उन पर ऐसे हथियार रखने का आरोप है, जिसका लाइसेंस समाप्त हो गया था. इस सिलसिले में उनके खिलाफ शस्त्र अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया. सलमान को इस मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने जनवरी में बरी कर दिया था, लेकिन राज्य सरकार ने इसके खिलाफ अपील की है.