भीलवाड़ा: बच्चों के विवाद में खूनी संघर्ष, बीच-बचाव करने पर युवक को घोंपा चाकू, मौत

घटना की पीछे की वजह इन दो परिवारों के बीच पांच-छह दिन पहले बच्चों की कहासुनी बताई जा रही है. 

भीलवाड़ा: बच्चों के विवाद में खूनी संघर्ष, बीच-बचाव करने पर युवक को घोंपा चाकू, मौत
प्रतीकात्मक तस्वीर.

दिलशाद खान, भीलवाड़ा: जिले के शहर में हरणी महादेव रोड पर स्मृति वन के पास अचानक एक ही परिवार के दो पक्षों में जमकर मारपीट होने लगी. दोनों ओर से लाठी, डंडे, थप्पड़ों की बरसात होने लगी. दोनों पक्ष एक दूसरे के खून के प्यासे हो गए. 

इसी बीच एक युवक झगड़े को सुलझाने के लिए बीच बचाव करने आया लेकिन युवक को बीच-बचाव करना भारी पड़ गया. झगड़े के दरम्यान बीच बचाव करने पर युवक के पेट में चाकू लग गया, जिससे युवक गंभीर रूप से घायल हो गया. आखिरकार युवक ने दम तोड़ दिया. 

यह भी पढ़ें- पुष्कर मेले से पहले ही सक्रिय हो गए नशा माफिया, 9 किलो 500 ग्राम अवैध गांजा बरामद

कैसे हुई पूरी घटना
ओड़ों का खेड़ा निवासी एक ही परिवार के कुछ लोग स्मृति वन के सामने स्थित लोक देवता के यहां पूजा करने गए थे. वापसी में स्मृति वन के सामने इनके बीच पुराने वाद विवाद को लेकर आपसी कहासुनी के बीच झगड़ा हो गया. इस दौरान किसी ने चाकू निकाल लिया और वार करने लगा. ओड़ों का खेड़ा निवासी विकास ओड़ बीच-बचाव करने लगा तो उसके पेट में चाकू लगा गया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. अचानक हुए इस हमले में विकास की मां बसंती ओड़, दीपक (18) पुत्र अंबालाल ओड़, अंबालाल पुत्र हजारीलाल ओड़ और अभिषेक पुत्र बाबूलाल ओड़ भी घायल हो गए. इन सभी को एमजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है,जबकि विकास ओड़ ने दम तोड़ दिया. वारदात के बाद आरोपी फरार हो गए, जिनकी गिरफ्तार को लेकर समाज के लोगों ने सूचना केंद्र चौराहे पर जमकर हंगामा शुरू कर दिया. सड़क मार्ग जाम कर लोग प्रदर्शन करने लगे. सूचना पर मौके पर पहुंची. पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ा.

क्या है पूरा मामला
घटना की पीछे की वजह इन दो परिवारों के बीच पांच-छह दिन पहले बच्चों की कहासुनी बताई जा रही है. दोनों पक्ष आपस में नजदीकी रिश्तेदार हैं. दीपक ओड़ और अभिषेक ओड़ के परिवारों में बच्चों को लेकर करीब सप्ताहभर पहले व्हाट्सएप स्टेटस को लेकर कहासुनी हो गई थी. शनिवार की दोपहर में एक साथ मिले तो बच्चों में फिर से कहासुनी और मारपीट होने लगी. बच्चों के बीच शुरू हुआ ये विवाद इतना बढ़ा कि इस झगड़े में दोनों परिवार के सभी लोग शामिल हो गए और एक-दूसरे को मरने-मारने पर उतारू हो गए. झगड़े में अचानक एक पक्ष ने चाकू निकालकर ताबड़तोड़ वरना शुरू कर दिया, तभी विकास और उसकी मां बीच-बचाव करने लगे. 

इस दौरान विकास के पेट में चाकू लग गया, चाकू लगने से खून की धारा फूट पड़ी, आखिरकार उसकी मौत हो गई. खूनी संघर्ष में एक अन्य युवक की हालत गंभीर है, जिसे उदयपुर रेफर किया गया है. चाकूबाजी को अंजाम देने वाले आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर रविवार की सुबह आक्रोशित परिजन और समाज के लोगों ने सूचना केंद्र पर बड़ी संख्या में जमा होकर प्रदर्शन शुरू कर दिया. हंगामे की सूचना पर एएसपी जोधा और कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंची और समझाइश कर मामले को शांत करने का प्रयास किया, लेकिन भीड़ अनियंत्रित होने लगी. पुलिस ने अनियंत्रित भीड़ को हल्का बल प्रयोग कर खदेड़ा. पुलिस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास तेज कर दिए हैं.

स्क्रिप्ट- सुजीत कुमार निरंजन