VIDEO: कोटा के इटावा में चंबल नदी पार करते समय डूबी नाव, निकाले गए 12 शव, कई लापता

जानकारी के मुताबिक, नाव में 45 से अधिक लोग नाव में सवार थे. 

VIDEO: कोटा के इटावा में चंबल नदी पार करते समय डूबी नाव, निकाले गए 12 शव, कई लापता
जानकारी के मुताबिक, नाव में 25 से अधिक लोग नाव में सवार थे.

हेमंत सुमन, कोटा: राजस्थान के कोटा से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. यहां इटावा में चंबल नदी पार करते समय नदी में एक नाव के डूबने की सूचना है.

जानकारी के मुताबिक, नाव में 45 से अधिक लोग नाव में सवार थे. यह हादसा खातोली क्षेत्र के गोठड़ा कला गांव में हुआ है. मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने लोगों को बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं. इनमें से करीब आधा दर्जन लोग लापता हैं.  घटना की जानकारी मिलते ही प्रशासनिक लवाजमा भी मौके पर पहुंच गया है. 

हादसे में अब तक 12 लोगों के शवों को ग्रामीणों ने बाहर निकाला है. नाव में सवार करीब 10 से 15 लोग अब भी लापता है. लापता लोगों में महिलाएं-बच्चे भी शामिल हैं. स्थानीय प्रशासन के खिलाफ लोगों में रोष है. यहां लोगों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की. कोटा और बूंदी से 3 एसडीआरएफ की टीमें मौके पर पहुंचकर राहत कार्य में जुट गई हैं.

नदी में जिस जगह हादसा हुआ, वहां नदी के एक तरफ कोटा जिले की सीमा है तो नदी के दूसरी तरफ बूंदी जिले की सीमा आती है. नाव में सवार सभी लोग इटावा क्षेत्र के आसपास के गांव के लोग थे, जो चतुर्दशी के मौके पर बूंदी जिले के कमलेश्वर महादेव पूजा अर्चना करने जा रहे थे. नदी पर पुलिया नहीं होने से यहां नाव ही आवागमन के लिए लोगों का एकमात्र जरिया है. ऐसे में यहां बड़ी संख्या में अवैध तरीके से नावों का संचालन होता है, जिसमें लोगों के साथ ही वाहनों को भी नदी के एक ओर से दूसरी तरफ लाया और ले जाया जाता है. 

अवैध नावों के संचालन को लेकर पूर्व में भी कई बार शिकायतें प्रशासन तक पहुंची. प्रशासन ने कार्रवाई भी की लेकिन सख्ती नहीं होने से अवैध नावों का संचालन अभी बदस्तूर जारी है. नाव संचालक चोरी-छिपे नावों का संचालन कर लोगों की जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं.