मोहब्बत में बदनाम होने के डर से यह लड़का लांघ गया Border, अब Pak Rangers के हवाले

बाड़मेर जिले (Barmer News) भारत-पाक सीमा (India Pakistan Border) से सटे गांव कुम्हारो के टीबा गांव निवासी युवक अपने पड़ोस में रहने वाली प्रेमिका से मिलने जाना भारी पड़ गया. 

मोहब्बत में बदनाम होने के डर से यह लड़का लांघ गया Border, अब Pak Rangers के हवाले
जुर्ग माता-पिता ने बताया कि BSF ने उनको बताया कि गेमराराम पाकिस्तान चला गया.

बाड़मेर: राजस्थान के बाड़मेर जिले (Barmer News) भारत-पाक सीमा (India Pakistan Border) से सटे गांव कुम्हारो के टीबा गांव निवासी युवक अपने पड़ोस में रहने वाली प्रेमिका से मिलने जाना भारी पड़ गया. प्रेमिका के घर में घुसने के दौरान परिजनों ने देख लिया और उसके बाद पकड़े जाने के डर से रात को तारबंदी पार करके पाकिस्तान (Pakistan) चला गया और पाक रेंजर ( Pak Rangers) और पाक पुलिस ने उसे जेल में बंद कर दिया. उसके बाद बूढ़े मा-बाप और उसके परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. उनका दर्द इतना कि अगर मेरे पुत्र ने गलती की है तो उसे अपने वतन बाड़मेर लाकर जो सजा सरकार देगी हमे मंजूर है.

पिछले 2 महीनों से अपने पुत्र गेमराराम (Gemraram) की राह देख रहे बुजुर्ग माता-पिता ने बताया कि BSF ने उनको बताया कि गेमराराम पाकिस्तान चला गया. गेमराराम की मां अक्कू देवी बताती है कि मेरा पुत्र  4 नवंबर को मेरे पास था रात को खाना खाया और उसके बाद घर से लापता हो गया. पड़ोसी में हो रहने बोल रहे हैं कि वह हमारे घर में घुसा था जब उसको देख लिया तो उसके बाद वह कहां भाग गया हमें भी नहीं पता. कुछ दिनों बाद बीएसएफ ने बताया कि आपका पुत्र की गेमराराम पाकिस्तान चला गया है. मेरी तो अब सरकार और अधिकारियों से यही गुजारिश है कि मेरा पुत्र जल्दी से जल्दी भारत लेकर आए तो मेरी आंखों को सुकून मिलेगी.

गेमराराम के पिता ने उसके लापता होने की बीजराड़ थाने में गुमसुदगी दर्ज करवाई. पिता ने बताया कि मेरा पुत्र लॉकडाउन में गांव आया था. उससे पहले वह जोधपुर में रहता था काम करता था, लेकिन 4 नवंबर के बाद गांव से कहीं चला गया. कुछ दिन बाद बीएसएफ ने हमें बताया कि आप का पुत्र गेमराराम पाकिस्तान चला गया है. तब हमने जिला कलेक्टर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन भी दिया और उन कोई भी कार्रवाई अभी तक नहीं हुई. अब सरकार से यह गुजारिश है कि मेरे पुत्र को एक बार अपनी सरजमी ले आए उसके बाद भले उसका जेल में डालें या फिर फांसी पर चढ़ा दे.

बीजराड़ थानाधिकारी जेठाराम ने बताया 16 नवंबर को गेमराराम के पिता जमाराम ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई. जब हमने तफ्तीश की तब हमें लगा कि युवक कहीं पाकिस्तान तो नहीं चला गया तब हमने बीएसएफ 120 बटालियन के कमांडेंट को पत्र लिखा और वस्तुस्थिति का जानकारी मांगी. तब हमने अपने उच्च अधिकारियों को भी बताया और उन्होंने भी बीएसएफ को पत्र लिखा अब यह सब ने स्वीकार किया है कि युवक पाकिस्तान  की जेल में कैद है.

गौरतलब है कि इस तरीके से तारबंदी पार कर बिना योजना के युवक का जाना सुरक्षा पर सवालिया निशान खड़ा करता है. अब देखने वाली बात यह होगी की गेमराराम भारत कब लौटता है.

ये भी पढ़ें: Rajasthan में Tax चारों पर जांच एजेंसियां का शिकंजा, DGGI ने 5 आरोपियों को किया गिरफ्तार