सोशल मीडिया पर तहलका मचा रहा BSF जवान का हुनर, ड्यूटी के बाद लिखते हैं मारवाड़ी भजन

जवान कुंभाराम के भाई अमित कहते हैं कि भाई को बचपन से ही लिखने का शौक़ रहा है, जिसे उन्होंने निरंतर जारी रखा है. 

सोशल मीडिया पर तहलका मचा रहा BSF जवान का हुनर, ड्यूटी के बाद लिखते हैं मारवाड़ी भजन
बीएसएफ जवान कुंभाराम पिलानिया.

रौनक व्यास, बीकानेर: जवान जांबाज़ होता है. कुछ कर गुज़रने का जोश और उस जोश के साथ कुछ ऐसा कर देना, जिसे देश हमेशा याद रखे. जी हां, आज हम आपको बताते हैं बीएसएफ़ के ऐसे ही एक जांबाज़ जवान के बारे में, जो देश की सुरक्षा में बॉर्डर पर तैनात हैं तो वहीं, दूसरी राइटर बनकर भी धूम मचा रहे हैं. अपनी ड्यूटी के बाद मारवाड़ी भजन लिखते हैं, जो इन दिनो सोशल मीडिया पर सुर्ख़ियां बटोर रहे हैं.

यह भी पढ़ें- कल देशभर में होगा NEET Exam, राजस्थान में 269 सेंटर

 

बीकानेर के रहने वाले कुंभाराम पिलानिया देश की पहली फ़्रंटियर पर तैनात हैं यानी बीएसएफ़ में देश की सुरक्षा में अपने कर्तव्यों का पालन कर रहे हैं लेकिन अपनी ड्यूटी के बाद कुंभाराम राजस्थान के मारवाड़ी भजनों को लिखते हैं और उन्हें अपने भाई को भेजते हैं. यहां बीकानेर में उनके भाई का रिकॉर्डिंग स्टूडियो है, जहां इन भजनों को अलग-अलग सिंगर से गवाकर तैयार किया जाता है. अब तक कुंभाराम 27 भजन लिख चुके हैं, वहीं, अब बाबा रामदेव पर लिखा भजन इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. 

2015 में बीएसएफ़ ज्वाइन करने के बाद देश के कई हिस्सों में ड्यूटी कर चुके हैं. वहीं, फ़िलहाल वो त्रिपुरा की एक पोस्ट पर तैनात हैं और वहीं, ड्यूटी के बाद भजन लिखते हैं और अपने भाई को भेजते हैं. यहां पर यह तैयार होकर सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर डाला जाता है. अभी सोशल मीडिया पर इनके भजनों के हज़ारों फ़ॉलोअर्स हैं और भजनों की धूम मची हुई हैं. दोनों भाई इन दिनों सुर्ख़ियों में बने हुए हैं. 

क्या कहना है कुंभाराम के भाई का
जवान कुंभाराम के भाई अमित कहते हैं कि भाई को बचपन से ही लिखने का शौक़ रहा है, जिसे उन्होंने निरंतर जारी रखा है. बीएसएफ़ में काई स्थानीय कार्यक्रमों में अपने भजनों को खुद ग़ा चुके हैं.

कुंभाराम ने पीएचडी की मानद उपाधि मिलने के बाद बीएसएफ़ में देश सेवा में जाने का फ़ैसला लिया. ये अपने आप में बेहद अनूठी बात है कि देश सेवा की गम्भीर ड्यूटी के बाद जवान कुंभाराम अपने हुनर को इस तरह सबके सामने लाकर निखार भी रहे हैं और खुद के साथ सब का मनोरंजन भी कर रहे हैं.