close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: BSP विधायक राजेंद्र गुडा ने कहा- सचिन पायलट के नेतृत्व पर पूरा भरोसा

बीेएसपी के 6 विधायक राजस्थान के विधानसभा चुनाव में जीते हैं.

राजस्थान: BSP विधायक राजेंद्र गुडा ने कहा- सचिन पायलट के नेतृत्व पर पूरा भरोसा
बीएसपी के विधायक राजेंद्र गुडा ने कहा कि सचिन पायलट को मुख्यमंत्री के रूप में समर्थन करना चाहेंगे (फोटो साभार: facebook)

जयपुर: राजस्थान में बसपा के सभी छह विधायकों ने कांग्रेस को समर्थन करने का बुधवार को निर्णय लिया. विधायकों ने यह निर्णय बसपा अध्यक्ष मायावती की तरफ से कांग्रेस सरकार को समर्थन देने की घोषणा के बाद लिया है.  

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के एक विधायक राजेंद्र गुडा ने मीडिया से कहा कि मुख्यमंत्री चुनना कांग्रेस का निजी मामला है, लेकिन हर कोई राज्य कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट को मुख्यमंत्री के रूप में समर्थन करना चाहेगा, क्योंकि वह युवा और ऊर्जावान है.

राजस्‍थान विधानसभा चुनाव (Rajasthan elections 2018) में कांग्रेस को अभी भी बहुमत के लिए एक सीट की जरूरत की बात सामने आने के बाद बसपा प्रमुख मायावती ने भी कांग्रेस को समर्थन देने की घोषणा की थी. राजस्‍थान में कांग्रेस के समर्थन पर मायावती ने कहा था कि अगर राजस्‍थान में कांग्रेस को जरूरत पड़ी तो बसपा समर्थन को तैयार है. 

वैसे राजस्‍थान में कांग्रेस के बागी नेता, जो निर्दलीय विधायक बने हैं, वो अशोक गहलोत के बेहद करीबी बताए जाते हैं. उनमें से बाबूलाल नागर, महादेव सिंह खंडेला, रामकेश मीणा निर्दलीय विधायकों का भी अशोक गहलोत को ही समर्थन है. ऐसे में कांग्रेस को विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए बीएसपी के समर्थन की जरुरत शायद नहीं पड़ें. 

चुनाव परिणाम आने के बाद मायावती ने कहा था कि हमारी पार्टी बीजेपी को सत्ता से बाहर करने के लिए विधानसभा चुनाव लड़ी थी. लेकिन कांग्रेस की विचारधारा से मेल नहीं खाने के बावजूद कांग्रेस का समर्थन करेगी.

आपको बता दें कि, राजस्‍थान विधानसभा चुनाव (Rajasthan Assembly elections 2018) में बीजेपी को 73 सीटों पर संतोष करना पड़ा है. वहीं अगर अन्‍य दलों की बात करें तो बहुजन समाज पार्टी (बसपा) को 6 सीटें मिली हैं. कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्‍सवादी) को 2 सीटें मिली हैं. वहीं भारतीय ट्राइबल पार्टी को 2, राष्‍ट्रीय लोक दल को 1 और राष्‍ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी को 3 सीटें मिली हैं. इसके अलावा इन चुनावों में 13 निर्दलीय प्रत्‍याशियों ने जीत दर्ज की है.

(इनपुट आईएएनएस से)