बूंदी उत्सव की धूम, 84 खंभों की छतरी पर राजस्थानी कलाकारों ने जीता दिल

कार्यक्रम में राजस्थानी गीतों पर सामूहिक नृत्यों की प्रस्तुतियों ने देर तक दर्शकों को बांधे रखा. 

बूंदी उत्सव की धूम, 84 खंभों की छतरी पर राजस्थानी कलाकारों ने जीता दिल
कार्यक्रम में कलाकारों की प्रस्तुतियों ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया.

संदीप व्‍यास, बूंदी: जिले में मनाए जा रहे बूंदी उत्सव (Bundi festival) के दूसरे दिन बीती रात 84 खंभों की छतरी पर पर्यटन विभाग की ओर से रंगारंग राजस्थानी सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया. कार्यक्रम में कलाकारों की प्रस्तुतियों ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया.

कार्यक्रम में राजस्थानी गीतों पर सामूहिक नृत्यों की प्रस्तुतियों ने देर तक दर्शकों को बांधे रखा. स्थानीय बाल कलाकारों की प्रस्तुतियों ने कार्यक्रम में चार चांद लगा दिए. कार्यक्रम में पर्यटन विभाग जयपुर के संयुक्त निदेशक आनंद त्रिपाठी सहायक निदेशक देवेंद्र मीणा ने शिरकत की.

कार्यक्रम की शुरुआत उषा शर्मा ने मांड गायन से की. उसके बाद करवर के कलाकारों ने कच्ची घोड़ी नृत्य की प्रस्तुति दी. पाली की लीला देवी ने तेरहताल प्रस्तुत की. कोटा के हरि बाबा की मटका भवई नृत्य की प्रस्तुति को खूब सराहा गया.