अजमेर में CAA-NRC का विरोध जारी, निकाली गई संविधान बचाओ रैली

रैली को ध्यान में रखकर जिला पुलिस की ओर से अजमेर दरगाह थाने में सीएलजी व शांति समिति की बैठक का आयोजन किया गया.

अजमेर में CAA-NRC का विरोध जारी, निकाली गई संविधान बचाओ रैली
रैली को लेकर जिला प्रशासन व पुलिस द्वारा विशेष व्यवस्थाएं की गई थी.

अजमेर: राजस्थान के अजमेर में मुस्लिम समाज द्वारा जुम्मे की नमाज के बाद अंदर कोट दरगाह बाजार से सीएए व एनआरसी के विरोध में संविधान बचाओ रैली का आयोजन किया गया. इस रैली को ध्यान में रखकर जिला पुलिस की ओर से अजमेर दरगाह थाने में सीएलजी व शांति समिति की बैठक का आयोजन किया गया.

इस मौके पर दरगाह उपाधीक्षक रजत विश्नोई पुष्कर उपाधीक्षक विनोद कुमार सीपा के साथ ही अन्य थानों के अधिकारी भी मौजूद रहे. साथ ही, पुलिस की ओर से व्यापारियों के साथ ही विभिन्न सामाजिक संगठनों व दरगाह क्षेत्र की अलग-अलग सीएलजी मेंबर से क्षेत्र में शांति बनाए रखने की अपील की गई ताकि इलाके में कोई अप्रिय घटना न हो. 

वहीं, संविधान बचाओ रैली के तहत मुस्लिम समाज के पदाधिकारियों द्वारा शांति मार्च निकालते हुए दरगाह बाजार से सैकड़ों की संख्या में लोग जिला कलेक्ट्रेट पहुंचे. साथ ही, वह राष्ट्रपति के नाम सीएए और एनआरसी के विरोध में ज्ञापन सौंपकर दोनों बिलों पर पुनर्विचार की मांग की गई. इस रैली को लेकर जिला प्रशासन व पुलिस द्वारा विशेष व्यवस्थाएं की गई थी.

बता दें कि, पूरे देश में सीएए और एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन का दौर जारी है. गौरलतब है कि, 22 दिसंबर को असोक गहलोत की अगुवाई में जयपुर में शांति मार्च निकाला गया था, जो अल्बर्ट हॉल से लेकर गांधी सर्किल तक करीब 3 किलोमीटर तक गया था. मौन जुलूस में बड़ी तादाद में कांग्रेस कार्यकर्ता और सिविल सोसाइटी के सदस्य शामिल हुए थे. कार्यक्रम को समान विचारधारा के 7 राजनीतिक दलों के अलावा सिविल सोसाइटी के सदस्यों ने भी संबोधित किया. 

अल्बर्ट हॉल से शुरू हुए मौन जुलूस में बड़ी तादाद में कांग्रेस कार्यकर्ता और सिविल सोसायटी के सदस्य शामिल हुए थे. सिविल सोसायटी की ओर से एमजी रोड पर एक सभा का आयोजन हुआ था. इस सभा के जरिए सिविल सोसायटी ने देश में एनआरसी और सीएए को वापस लेने की मांग की गई थी. सिविल सोसायटी के सदस्यों ने कहा देश में इस कानून के जरिए सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है.