उदयपुर: निवास प्रमाण पत्र नहीं बनने से अभ्यर्थियों को नहीं मिल रहा TSP का लाभ, कहा...

अभ्यर्थियों ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि समय पर प्रमाण पत्र नहीं बन पाए तो हम आगामी भर्ती प्रक्रिया में शामिल नहीं हो पाएंगे. 

उदयपुर: निवास प्रमाण पत्र नहीं बनने से अभ्यर्थियों को नहीं मिल रहा TSP का लाभ, कहा...
निवास प्रमाण पत्र नहीं बनने से अभ्यर्थियों को नहीं मिल रहा TSP का लाभ. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

उदयपुर: उदयपुर जिले का कोटडा उपखंड जनजाति क्षेत्र में भी क्षेत्र में रहने वाले अभ्यर्थियों के टीएसपी के विशेष मूल निवास नहीं बनने से अभ्यर्थियों को ई-मित्र केंद्र से लेकर तहसील कार्यालय व उपखंड कार्यालय तक भटकना पड़ रहा है. कोटडा उपखंड के मांडवा ,बाखेल, महाडी, गुरा, मामेर, पाथरपाड़ी सहित क्षेत्र के दर्जनों गांवों के कई अभ्यर्थियों के बीते 8 महीने से विशेष मूलनिवास प्रमाण पत्र नहीं बन पाने से टीएसपी क्षेत्र का लाभ नहीं मिल पा रहा है. जबकि अन्य टीएसपी तहसील कार्यालयों पर विशेष मूलनिवास प्रमाण पत्र बनाए जा रहे हैं.

परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों ने बताया कि विभिन्न भर्तियों में आवेदन के लिए टीएसपी के विशेष मूल निवास की आवश्यकता होती है. ऐसे में प्रमाण पत्र नहीं होने की वजह से कई अभ्यर्थियों को टीएसपी क्षेत्र में आरक्षण का लाभ नहीं मिल पाएगा. कोटडा क्षेत्र के नय्यून खान ,वादे दुल्लार खान ,गुलकी देवी वीरसिंह गरासिया, ईश्वर सिंह, महेंद्र सिंह चौहान बिकरणी ,ओम प्रकाश देविलाल बाखेल ,नकुल खंडेलवाल भीमराज बुम्बरीया सहित कई अभ्यर्थियों का आठ महीने से आवेदन पेंडिंग है.

ओम प्रकाश बुम्बरीया, गुलकी देवी, ईश्वर सिंह, नकुल कुमार एवं भीमराज लखुम्बरा ने बताया कि बीते फरवरी से टीएसपी विशेष मूल निवास के लिए कोटड़ा तहसील कार्यालय में ई-मित्र केंद्र से ऑनलाइन आवेदन किया गया था. लेकिन आज तक विशेष मूलनिवास प्रमाण पत्र नहीं बना है. इस वजह से हमे अन्य भर्ती में टीएसपी क्षेत्र का फायदा नहीं मिल पाया है.

अभ्यर्थियों ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि समय पर प्रमाण पत्र नहीं बन पाए तो हम आगामी भर्ती प्रक्रिया में शामिल नहीं हो पाएंगे. ऑनलाइन तकनीकी समस्या के चलते टीएसपी क्षेत्र के विशेष मूलनिवास नहीं बन पा रहे है.