उग्र भीड़ के बीच फंसी पुलिस के लिए जीवन रक्षक बनकर आएगा ''कैप्सी स्प्रे''

कैप्सी स्प्रे ना केवल पुलिस की जान की रक्षा करेगी बल्कि इसकी मदद से भीड़ को भी नियंत्रित किया जा सकेगा

उग्र भीड़ के बीच फंसी पुलिस के लिए जीवन रक्षक बनकर आएगा ''कैप्सी स्प्रे''
जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट को पुलिस मुख्यालय से कैप्सी स्प्रे मिला है

भवानी सिंह,जोधपुर: राजस्थान पुलिस में लगातार नवाचार हो रहे हैं. पुलिस को लगातार आधुनिक बनाने की कोशिश की जा रही है इसके बावजूद मॉब लिंचिग या उग्र भीड़ के बीच घिर जाने के बाद पुलिस बेबस नजर आती है कई बार उग्र भीड़ पुलिस पर हमला करने भी नहीं चूकती, ऐसे मौके पर पुलिस को बेहद ही संजीदगी और सहनशीलता से काम लेना पड़ता है यही वजह हैं, कि उग्र भीड़ से घिरने के बाद भी पुलिस गोली चलाने की कोशिश नहीं करती है. कई बार उग्र भीड़ की हिंसा में पुलिस वाले घायल हो जाते हैं ऐसे मुश्किल वक्त में राजस्थान में पुलिसकर्मियों के लिए अच्छी खबर है कैप्सी स्प्रे ना केवल पुलिस की जान की रक्षा करेगी बल्कि इसकी मदद से भीड़ को भी नियंत्रित किया जा सकेगा जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट को पुलिस मुख्यालय से कैप्सी स्प्रे मिला है कहीं पर भीड़ उग्र होती है तो पुलिस इस स्प्रे का इस्तेमाल कर भीड़ को बिना किसी नुकसान के नियंत्रित कर सकेगी कैप्सी स्प्रे दिखने में बिल्कुल आम स्प्रे जैसा नजर आता है,लेकिन ये स्प्रे बेहद ही कारगर है उग्र भीड़ पर कैप्सी स्प्रे का इस्तेमाल करने पर भीड़ में शामिल लोगों के आंखों और शरीर पर बेहद ही तेज जलन होगी, जिसके बाद भीड़ तुंरत ही तितर-बितर हो जाएगी. खास बात ये हैं, कि कैप्सी स्प्रे के इस्तेमाल से शरीर को किसी तरह का नुकसान नहीं होगा,बल्कि कुछ देर बाद ही सब कुछ सामान्य हो जाएगा छोटे पैकिंग में आम डीओ या स्प्रे जैसा दिखने वाला यह हथियार शुरुआत में जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट के थानाधिकारी को दिया गया है. सभी थानाधिकारी अब ड्यूटी के दौरान पिस्टल के साथ इस स्प्रे को भी वर्दी के साथ लगाकर रखेंगे डीआरडीओ ने कैप्सी स्प्रे को बेहद ही खास तकीनीकी से तैयार किया है, जो जवानों के भीड़ से घिरने पर काफी कारगर साबित होगा इसके इस्तेमाल को लेकर थानाधिकारियों को प्रशिक्षण देने के साथ ही ड्यूटी के दौरान पिस्टल के साथ ही वर्दी पर रखना होगा इस स्प्रे को अपने साथ रखने में भी कोई दिक्कत या परेशानी नहीं होगी. बहरहाल कैप्सी स्प्रे पुलिस कर्मियों के लिए कितना कारगार होता है.वो इसके इस्तेमाल करने और उसके परिणाम आने के बाद ही साफ होगा.