तेलंगाना में हुआ रेप आरोपियों का एनकाउंटर, कोटा की बेटियों ने ढोल बजाकर मनाया जश्न

हैदराबाद में एनकाउंटर में दरिंदों की मौत के बाद कोटा में छात्राओं ने जमकर खुशी मनाई. जेडीबी गर्ल्स कॉलेज के बाहर छात्राएं ढोल की थाप पर जमकर थिरकीं और आतिशबाजी भी की. 

तेलंगाना में हुआ रेप आरोपियों का एनकाउंटर, कोटा की बेटियों ने ढोल बजाकर मनाया जश्न
हैदराबाद में एनकाउंटर में दरिंदों की मौत के बाद कोटा में छात्राओं ने जमकर खुशी मनाई.

कोटा: हैदराबाद रेप कांड (Hyderabad Rape Case) के आरोपियों के एनकाउंटर पर कोटा की बेटियों ने ढोल बजाकर जश्न मनाया. जेडीबी गर्ल्स कॉलेज (JDB Girls College) की छात्राओं ने ढोल-नगाड़ों और आतिशबाज़ी के साथ अपनी ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए कहा कि ऐसे आरोपियों को ऐसी ही सज़ा ही बनती है. रेप के सभी आरोपियों का एनकाउंटर होना चाहिए.

हैदराबाद में एनकाउंटर में दरिंदों की मौत के बाद कोटा में छात्राओं ने जमकर खुशी मनाई. जेडीबी गर्ल्स कॉलेज के बाहर छात्राएं ढोल की थाप पर जमकर थिरकीं और आतिशबाजी भी की. साथ ही एक दूसरे को मिठाई भी खिलाई. इन छात्राओं ने जमकर खुशी मनाते हुए कहा है कि जिस तरह से हैदराबाद में पुलिस एनकाउंटर में दरिंदों की मौत हुई है, वैसे ही हर दुष्कर्मी को सजा मिले, जिससे महिलाएं और लड़कियां सुरक्षित रहें और देश में ऐसे दरिंदों के खिलाफ माहौल पैदा हो.

पुलिस को दी बधाई
खुशियां मना रही जेडीबी गर्ल्स कॉलेज की छात्रसंघ अध्यक्ष प्रेरणा जायसवाल ने कहा कि हम लोगों ने खुशियां मनाई है और आगे भी पुलिस इसी तरह से जो रेपिस्ट हैं, उनके साथ व्यवहार करें और उन्हें मौत की सूली पर ले जाया जाए. उन्हें जैसे ही हत्यारे पकड़े जाएं, वैसे ही तुरंत आरोपियों को हाथों-हाथ सजा दी जाए. इसके लिए पुलिस को भी बधाई देते हैं.

अभी खत्म नहीं हैं दरिंदें
छात्रा रवि राम मेघवाल ने कहा कि हमें बहुत खुशी है कि एनकाउंटर कर पुलिस ने रेपिस्ट दरिंदों को खत्म कर दिया है. यह दरिंदे अभी खत्म नहीं हुए हैं, केवल हैदराबाद के दरिंदों को मारा गया है. अभी और भी इस तरह के दरिंदे खुले घूम रहे हैं. अभी भी बेटियां सुरक्षित नहीं है, सरकार को कड़े नियम और कायदे बनाने चाहिए.

छात्रा रुद्राक्षी उपाध्याय ने कहा कि मुझे बहुत खुशी है, हैदराबाद में दरिंदों को जिस तरह से सजा मिली है. उनके किए का फल उन्हें मिला है. छात्रा किरण महावर ने कहा कि सुबह उठते ही पूरे देशवासियों को इस तरह की खुशी मिली है, जिसमें हैदराबाद के दरिंदों का खात्मा किया गया है.