close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: केंद्र सरकार ने दिए पानी की समस्या के लिए नियमित निगरानी के निर्देश

इस बैठक में सीएस ने पेयजल की स्थिति, चारा डिपो के बारे में पूरा फीडबैक दिया.

जयपुर: केंद्र सरकार ने दिए पानी की समस्या के लिए नियमित निगरानी के निर्देश
बीसलपुर में 31 जुलाई तक का ही पानी बचा हुआ है.

भरत राज/जयपुर: केंद्रीय कैबिनेट सचिव प्रदीप सिन्हा ने राज्यों को पेयजल की समुचित उपलब्धता के लिए नियमित मॉनिटरिंग के निर्देश दिए हैं. राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ हुई वीसी में मुख्य सचिव डीबी गुप्ता और अन्य अधिकारी सचिवालय से जुड़े. इसमें सीएस ने पेयजल की स्थिति, चारा डिपो के बारे में पूरा फीडबैक दिया. इसमें मुख्य सचिव ने माना कि जयपुर और अजमेर में सप्लाई के लिए 31 जुलाई तक का ही बीसलपुर में पानी है. यदि मानसून की स्थिति ठीक नहीं रहेगी तो वैकल्पिक इंतजाम करने पड़ेंगे जिसके लिए कंटीन्जेसी प्लान बनाया जा रहा है.

दिल्ली से केंद्रीय कैबिनेट सचिव प्रदीप सिन्हा ने बुद्धवार को राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ वीसी के जरिये फीडबैक लिया. वीसी के जरिए राज्यों में सूखा, चारे पानी की स्थिति,चारा डिपो शुरू करने और अन्य राहत इंतजामों, गर्मी के हालात और मानसून की स्थिति के बारे में जानकारी ली. मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने सचिवालय से वीसी के जरिए जुड़ते हुए फीडबैक में बताया कि प्रदेश में सामान्य मानसून का पूर्वानुमान है. इसके तहत मानसून के दौरान सामान्य बारिश होगी.

साथ ही इस बैठक में यह बताया गया कि इस समय सूखे जैसी प्रदेश में कोई स्थिति नहीं है. आमतौर पर इस समय जो तापमान होता है वही तापमान है. हालांकि बीच-बीच में बारिश की वजह से विक्राल स्थिति नहीं है. पानी की उपलब्धता के बारे में यह बताया गया कि बीसलपुर में 31 जुलाई तक का ही पानी बचा हुआ है. इससे जयपुर और अजमेर में जल आपूर्ति की जाती है.

वीसी में राजस्व प्रमुख सचिव संजय मल्होत्रा, पीएचइडी प्रमुख सचिव संदीप वर्मा, स्थानीय निकाय निदेशक पवन अरोड़ा सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे. बैठक में इस बात पर भी जोर दिया गया किया कि राज्य में पानी की समस्या पर निरंतर रूप से निगरानी रखने की जरूरत है ताकि जनता को पानी की किल्लत से रुबरू न होना पड़े.