केंद्र सरकार विपक्ष को शांत करने की एक और कोशिश कर रहा: अशोक गहलोत

अशोक गहलोत ने कहा कि, केंद्रीय गृह मंत्रालय का कांग्रेस से जुड़े गांधी परिवार के तीन न्यासों की जांच का फैसला, स्पष्ट रूप से राजनीति प्रतिशोध का मामला है.  

केंद्र सरकार विपक्ष को शांत करने की एक और कोशिश कर रहा: अशोक गहलोत
सीएम ने कहा कहा कि, यह विपक्ष को शांत करने की एक और कोशिश है.

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने केंद्रीय गृह मंत्रालय (MHA) द्वारा कांग्रेस (Congress) से जुड़े राजीव गांधी फाउंडेशन (RGF) सहित तीन ट्रस्ट की जांच शुरू करने को, राजनीतिक बदले की भावना से लिया गया फैसला बताया है.

उन्होंने कहा कि, यह विपक्ष को शांत करने की एक और कोशिश है. अशोक गहलोत ने ट्वीट किया, 'केंद्रीय गृह मंत्रालय का कांग्रेस से जुड़े गांधी परिवार के तीन न्यासों की जांच का फैसला स्पष्ट रूप से राजनीति प्रतिशोध का मामला है.' उन्होंने आगे लिखा है, 'कांग्रेस द्वारा पीएम केयर्स फंड में पारदर्शिता की जरूरत का मुद्दा उठाया जाना, राजग सरकार को हजम नहीं हो रहा है. तीन न्यासों के खिलाफ कार्रवाई इसी का सीधा परिणाम है.'

सीएम अशोक गहलोत  के अनुसार, 'यह विपक्ष को शांत करने व विपक्षी नेताओं को राष्ट्रीय हित के वे मुद्दे उठाने से रोकने की एक और कोशिश है जिने केंद्र सरकार के गलत फैसलों का खुलासा होता हो.'उल्लेखनीय है कि, केंद्र सरकार ने राजीव गांधी फाउंडेशन (आरजीएफ) सहित नेहरू-गांधी परिवार से संबंधित तीन न्यासों द्वारा धनशोधन और विदेशी चंदा सहित विभिन्न कानूनों के कथित उल्लंघन मामले में जांच में समन्वय के लिए बुधवार को एक अंतर-मंत्रालयी टीम गठित की.

(इनपुट-भाषा)