CAA दिल्ली प्रदर्शन में हुई हिंसा में पुलिसकर्मी की मौत, केंद्रीय मंत्री बोले- साजिश है

नागरिकता कानून और एनआरसी के नाम पर देश को बांटने का प्रयास वे लोग कर रहे हैं, जो लोकतांत्रिक लड़ाई में नकारे जा चुके हैं. 

CAA दिल्ली प्रदर्शन में हुई हिंसा में पुलिसकर्मी की मौत, केंद्रीय मंत्री बोले- साजिश है
यह एक सोची-समझी साजिश के तहत उन लोगों का प्रयास है, जिनकी राजनीति को जनता ने नकार दिया है.

मनोहर, दिल्ली: राजधानी के कुछ हिस्सों में हुई हिंसक वारदात पर प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि यह एक सोची-समझी साजिश के तहत उन लोगों का प्रयास है, जिनकी राजनीति को जनता ने नकार दिया है. 

नागरिकता कानून और एनआरसी के नाम पर देश को बांटने का प्रयास वे लोग कर रहे हैं, जो लोकतांत्रिक लड़ाई में नकारे जा चुके हैं. ऐसे लोग जो यह कृत्य कर रहे हैं, उनकी सच्चाई देश जान गया है, इन्हें देश कभी माफ नहीं करेगा. यह दुर्भाग्यपूर्ण है और यह लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए भारत की कल्पना से व्यथित है.

गंगा की निर्मलता के लिए केंद्र सरकार की ओर से करीब 28 हजार करोड़ की परियोजना वर्तमान में चल रही है. इंडोरामा ग्रुप के सीईओ एसपी लोहिया ने सोमवार को अपने सीएसआईआर फंड से 35 करोड़ खर्च कर गंगोत्री और बद्रीनाथ के घाटे के पुननिर्माण और 5 साल के रख-रखाव का करार जलशक्ति मंत्रालय और उत्तराखंड सरकार के साथ किया है. इसके साथ ही इंडोरामा ग्रुप ने गंगोत्री में स्नान घाट और श्मशान घाट बनाने का भी करार किया है.

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि ऐसे कामों में जब जनसहभागिता होती है तो निश्चित रूप से ऐसे काम की सफलता का भविष्य सुनिश्चित होता है. पिछली बार कुंभ में भी लोगों ने केंद्र सरकार की ओर से किए जा रहे प्रयासों को सराहा था. घाट बनने से उत्तराखंड की कला संस्कृति और इतिहास से लोग परिचित होंगे और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा. साथ ही स्थानीय व्यक्तियों को रोजगार भी मिलेगा.

 

यह वीडियो भी देखें -