फिर आएगी तबाही, राजस्थान के इन जिलों में अगले 24 घंटों में ओलावृष्टि की संभावना

आने वाले दिनों में पश्चिमी विक्षोभ के चलते प्रदेश के करीब 15 जिलों में बारिश और ओलावृष्टि की संभावना है.

फिर आएगी तबाही, राजस्थान के इन जिलों में अगले 24 घंटों में ओलावृष्टि की संभावना
प्रतीकात्मक फोटो

जयपुर: मार्च का महीना इस बार प्रदेश में बारिश और ओलावृष्टि के नाम रहा है. फरवरी के अंतिम सप्ताह में शुरू हुआ दौर मार्च के मध्य तक भी जारी है. बीते दो सप्ताह से प्रदेश के करीब दो दर्जन जिलों में बारिश और ओलावृष्टि का असर देखने को मिला है. वहीं, आने वाले दिनों में पश्चिमी विक्षोभ के चलते प्रदेश के करीब 15 जिलों में बारिश और ओलावृष्टि की संभावना है.

करीब एक दशक के बाद प्रदेश में मार्च के महीने में जोरदार बारिश और ओलावृष्टि देखने को मिल रही है. इस दौरान करीब एक दर्जन जिलों में करीब 15 से 20 एमएम तक बारिश दर्ज की गई. वहीं, करीब 10 जिलों में भारी ओलावृष्टि किसानों के लिए समस्या बनी. मौसम विभाग के अनुसार अगले कुछ दिनों तक प्रदेश में फिर से मौसम बदलने के साथ बारिश और ओलावृष्टि होने की संभावना है.

बदले मौसम के चलते प्रदेश में दिन और रात के तापमान में भी भारी गिरावट दर्ज होने से लोगों को सुबह-शाम सर्दी का अहसास होने लगा है. बीते एक सप्ताह में रात के तापमान में करीब 5 से 6 डिग्री तक गिरावट दर्ज की जा चुकी है. बीती रात भी प्रदेश में करीब 1 से 2 डिग्री तक रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई. 

राजस्थान में बुधवार रात के तापमान की बात की जाये तो अजमेर में 12.7 डिग्री, भीलवाड़ा में 9.6 डिग्री, वनस्थली में 12.2 डिग्री, अलवर में 14 डिग्री, जयपुर में 13.6 डिग्री, पिलानी में 12.4 डिग्री, सीकर में 10.5 डिग्री, कोटा में 15.5 डिग्री, सवाईमाधोपुर में 15 डिग्री, बूंदी में 14 डिग्री, चित्तौड़गढ़ में 12.8 डिग्री, डबोक में 10 डिग्री, बाड़मेर में 16.6 डिग्री, जैसलमेर में 12.9 डिग्री, जोधपुर में 13 डिग्री, माउंटआबू में 5.6 डिग्री, फलौदी में 18 डिग्री, बीकानेर में 12.5 डिग्री, चूरू में 14 डिग्री, गंगानगर में 11.3 डिग्री रहा.

मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से राजस्थान के आसपास एक परिसंचरण तंत्र बन गाय है और इसके प्रभाव से प्रदेश के एक दर्जन जिलों में बारिश का सिस्टम बनने लगा है. अगले दो दिनों तक बीकानेर, जयपुर, अजमेर और भरतपुर संभाग में मेघ गर्जना के साथ बारिश और ओलावृष्टि की संभावना है. इस दौरान करीब 30 से 40 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चलने की भी संभावना है.