रणथंभौर में चीतल शिकार का मामला, कार्रवाई करने गई पुलिस पर ग्रामीणों ने किया पथराव

रणथंभौर नेशनल पार्क में चीतल शिकार मामला सामने आने के बाद वन विभाग ने बीती रात जैतपुर गांव में शिकारियों के धरपकड़ के लिए दबिश दी. 

रणथंभौर में चीतल शिकार का मामला, कार्रवाई करने गई पुलिस पर ग्रामीणों ने किया पथराव
आरोपियों को बचाने के लिए गांव वालों ने पथराव कर दिया, जिसमें पुलिस के कई वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं.

सवाई माधोपुर: रणथंभौर नेशनल पार्क में चीतल शिकार मामला सामने आने के बाद वन विभाग ने बीती रात जैतपुर गांव में शिकारियों के धरपकड़ के लिए दबिश दी. पुलिस और वन विभाग की इस कार्रवाई से आरोपियों को बचाने के लिए गांव वालों ने पथराव कर दिया, जिसमें पुलिस के कई वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं.

वहीं, कुछ पुलिसकर्मियों के घायल होने की बात सामने आई है, जिन्हें सवाई माधोपुर के समान्य चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है. ग्रामीणों के अचानक हुए हमले से बचने के लिए पुलिसकर्मियों की ओर से हवाई फायरिंग भी कई गई, जिसकी पुष्टि किसी पुलिस अधिकारी की ओर से नहीं की गई है.

इधर ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर घर की तलाशी के नाम पर महिलाओं और बच्चों को परेशान किया और उनके साथ मारपीट भी की गई. गौरतलब है कि शिकार का मामला सामने आने के बाद आनन-फानन में वन मंत्री रणथंभौर का दौरा किया था और वन विभाग के साथ पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए थे. फिलहाल जैतपुर गांव में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं.

आपको बता दें कि रणथंभौर बाघ परियोजना के भैरूपुरा के जंगलों में शिकारियों द्वारा चीतल का शिकार करने का मामला सामने आया है. इतना ही नहीं शिकारियों की यह करतूत फोटो ट्रेप कैमरे में कैद हो गई, जिसमें शिकारी चीतल का शिकार करने के बाद उसे लकड़ी पर बांध कर कंधों पर डालकर ले जाते हुवे दिखाई दे रहे हैं.