जैसलमेर में CM गहलोत का BJP पर हमला, बोले- षडयंत्र करने वालों में फूट पड़ गई

सीएम गहलोत बोले- बीजेपी के विधायक बाड़ेबंदी में जा रहे हैं. इनकी पोल खुल गई है. 

जैसलमेर में CM गहलोत का BJP पर हमला, बोले- षडयंत्र करने वालों में फूट पड़ गई
सीएम गहलोत बोले- बीजेपी के विधायक बाड़ेबंदी में जा रहे हैं. इनकी पोल खुल गई है.

जैसलमेर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) रविवार को जैसलमेर पहुंचे, जहां उन्होंने मीडिया से रूबरू होते हुए आदिवासी दिवस (Tribal Day) की बधाई दी और कहा विश्व आदिवासी दिवस पर हमने 9 अगस्त को अवकाश भी घोषित कर दिया था.

दूसरा बीजेपी के विधायक बाड़ेबंदी में जा रहे हैं. इनकी पोल खुल गई है. आप सोच सकते हो कि सरकार में तो हम लोग हैं, जब हॉर्स ट्रेडिंग हो रही थी. इसलिए हम लोगों ने विधायकों को एक साथ एकत्रित किया. बीजेपी के विधायकों को इस बात की चिंता है. वह लोग बाड़ेबंदी कर रहे हैं. तीन चार जगह वो भी चुन-चुन कर के, और उनमें फूट पड़ गई है.

यह भी पढ़ें- राजस्थान में वसुंधरा को नजरअंदाज करना बना BJP की गले की हड्डी, अब राजे ने बदले तेवर

कैलाश मेघवाल जी ने पहले स्टेटमेंट दिया था इससे पहले राजस्थान में ऐसी परंपरा रही नहीं है. सबको मालूम है कि मैं बार-बार कहता हूं. दो तीन बार पहले भी ऐसे घटनाक्रम हुए थे. भैरों सिंह शेखावत साहब के टाइम तब मैंने पीसीसी अध्यक्ष रहते हुए विरोध किया था. नरसिम्हा राव जी प्राइम मिनिस्टर थे, तब भी मैंने ऐसी घटनाओं का विरोध किया. बीजेपी के स्थानीय नेता हैं. वह कल बड़े-बड़े दावे कर रहे थे आज उनकी पोल खुल गई है. अब वह चार्टर प्लेन कर रहे हैं और विधायकों को बाड़ेबंदी में भेज रहे हैं. यह परंपराएं जो भाजपा कर रही है, यह लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा है. यह बात मैं बार-बार कहता हूं. 

यह भी पढ़ें- राजस्थान BJP में मचा घमासान, वसुंधरा राजे ने RLP को लेकर दिया यह बड़ा बयान

हमारी लड़ाई सरकार को अस्थिर करने की षड्यंत्र के खिलाफ है. हम लोग संघर्ष कर रहे हैं और विजय हमारी ही होगी क्योंकि प्रदेशवासी हमारे साथ हैं. सरकार अच्छा काम कर रही है. कोरोना वायरस को लेकर भी सरकार ने एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी काम किया. पूरे देश में राजस्थान सरकार की तारीफ हो रही थी. बीजेपी के लोग इस देश में लोकतंत्र को कमजोर कर रहे हैं. इसको देश एवं प्रदेश की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी.

जो 19 विधायक हमारे गए थे, वह बातचीत करने के लिए गए थे. उनको बाड़ेबंदी में कैद कर दिया गया है और 200 बाउंसर लगा दिए गए हैं. उनके परिजनों ने उसे भी उनको मिलने नहीं दिया जा रहा है. दो बार हमारी एसओजी की टीम गई थी उनको भी अंदर घुसने नहीं दिया गया.