गजेंद्र सिंह शेखावत पर CM गहलोत का तंज, नेता सीएम बनने के सपने देखते थे लेकिन अब...

मायावती पर अशोक गहलोत का कहना है कि उन पर इस समय केंद्र सरकार का भारी दबाव है. 

गजेंद्र सिंह शेखावत पर CM गहलोत का तंज, नेता सीएम बनने के सपने देखते थे लेकिन अब...
सीएम गहलोत ने कहा कि कोरोना काल में राजस्थान में सब ने मिलकर काम किया है.

जयपुर: सियासी बाड़ेबंदी से जयपुर लौटने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) पर बड़ा तंज कसा है. 

गहलोत ने कहा कि पूर्व सीएम वसुंधरा राजे का ऑप्शन बनना चाह रहे हैं. बीजेपी के नेता.एक नेता तो ऑडियो टेप में पकड़ा गया है. इसके अलावा संजीवनी के माध्यम से लोगों से लूट की. ये नेता मुख्यमंत्री के सपने देखते थे, लेकिन अब ये नीचे आ चुके हैं. उन्होंने गजेंद्र सिंह शेखावत को कहा कि ट्वीट करना बंद करो. उन्होंने पीएम मोदी पर निशाना साधा और कहा कि पानी की चिंता करो मोदी जी इनको ड्रॉप क्यों नहीं कर रहे?

ट्वीट की बयाज पानी पर फोकस करें गजेंद्र सिंह
गजेंद्र सिंह शेखावत को अशोक गहलोत ने नसीहत दी कि पानी की योजना पर काम गजेंद्र सिंह शेखावत को काम करना चाहिए. उन्होंने कहा कि सरकार गिराने और ट्वीट करने की बजाय गजेंद्र सिंह राजस्थान में पानी की योजनाओं पर फोकस करें. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत लगातार ट्वीट के जरिए सरकार पर हमला बोल रहे हैं.

बीजेपी का चेहरा अयोध्या मामले पर बेनकाब हो चुका
5 अगस्त को राममंदिर का भूमिपूजन होगा. इस मसले पर राम मंदिर के मसले पर सीएम गहलोत ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला सर्वमान्य है, मगर बीजेपी इस फैसले पर राजनीति कर रही है. बीजेपी इस मसले पर शुरू से कर रही है. बीजेपी का चेहरा अयोध्या मामले पर बेनकाब हो चुका है.

जनता माफ नहीं करेगी बीजेपी के षडयंत्र को
सीएम गहलोत ने कहा कि कोरोना काल में राजस्थान में सब ने मिलकर काम किया है बीजेपी कांग्रेस और समाजसेवी सभी ने मिलकर जनता की सेवा की.  कोरोना काल के बीच बीजेपी ने सरकार गिराने का षड्यंत्र रचा. बीजेपी के इस षडयंत्र को राजस्थान की जनता कभी माफ नहीं करेगी.

जयपुर में अर्थव्यवस्था के हालातों पर मंथन करूंगा
जैसलमेर से जयपुर लौटने के बाद सीएम गहलो ने कहा कि पहले पुणे और दिल्ली में कोरोना की जांच भेजी जाती थी लेकिन अब स्थानीय स्तर पर ही जांच हो रही है. इसलिए मैं जैसलमेर से जयपुर वापस लौटा हूं. जयपुर में बैठकर कोरोना की स्थिति और अर्थव्यवस्था के हालातों पर मंथन करूंगा. उनका कहना था कि कोरोना को लेकर जनता डरने की जरूरत नहीं है. राज्य सरकार ने पूरा जोर लगा रखा है. कोरोना पर काबू पाने के किए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं, जांचें बड़ी है, इसलिए मरीजों की संख्या भी सामने आ रही है.

राजस्थान में लॉकडाउन की जरूरत नहीं, लेकिन...
सीएम गहलोत से जब लॉकडाउन पर सवाल पूछा तो उनका कहना था कि राजस्थान में अभी लॉकडाउन की कोई जरूरत नहीं है .लेकिन लॉकडाउन लगाने पर जनता मजबूर न करे. कोरोना प्रोटोकॉल को लोग फॉलो करें. मास्क का अनिवार्य रुप से प्रयोग करें. फिजिकल डिस्टेंस, सैनेटाइजर का उपयोग करें अन्यथा लॉकडाउन लगाने पर सरकार मजबूर होगी. अनिवार्य रूप से लोग कोरोना प्रोटोकॉल की पालना करें.

केंद्र सरकार के भारी दबाव में मायावती
मायावती पर अशोक गहलोत का कहना है कि उन पर इस समय केंद्र सरकार का भारी दबाव है. इस पूरे खेल के पीछे बीजेपी है. यह सबके सामने स्पष्ट हो चुका है. उनका कहना था कि टीडीपी के सांसदों का मत करना सही, मगर बसपा के विधायकों का मर्जर गलत है. बीजेपी के नेताओं का चाल चरित्र और चेहरे सबके सामने आ चुके हैं.