मन नहीं, 'दिल की बात' और सर्जिकल नहीं फर्जिकल स्ट्राइक करें PM मोदी: गहलोत

इलेक्ट्रोल बांड को लेकर सीएम गहलोत ने बीजेपी (BJP) पर निशाना साधा. इसे आजादी के बाद का सबसे बड़ा स्कैम बताया है.

मन नहीं, 'दिल की बात' और सर्जिकल नहीं फर्जिकल स्ट्राइक करें PM मोदी: गहलोत
इलेक्ट्रोल बांड को लेकर सीएम गहलोत ने बीजेपी (BJP) पर निशाना साधा.

जयपुर: महाराष्ट्र में चल रहे सियासी ड्रामे के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर सीधा हमला बोला है. अशोक गहलोत ने कहा है प्रधानमंत्री को अपने मन की बात नहीं बल्कि दिल की बात करनी चाहिए. उन्हें अब सर्जिकल स्ट्राइक नहीं बल्कि फर्जिकल स्ट्राइक के बारे में देश को बताना चाहिए क्योंकि महाराष्ट्र में जो कुछ हुआ है, यह उनकी मर्जी के बिना नहीं हो सकता.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महाराष्ट्र के राज्यपाल पर भाजपा (BJP) के साथ मिलकर मिलीभगत करने का आरोप लगाते हुए उनसे इस्तीफे की भी मांग की है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि महाराष्ट्र में सियासत का जो खेल हो रहा है, उसके जिम्मेदार राज्यपाल हैं. उन्हें नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देना चाहिए. बहुमत एनसीपी कांग्रेस और शिवसेना के पास है लेकिन राज्यपाल ने बहुमत के आंकड़े को दरकिनार करते हुए देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री और अजीत पवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिला दी जो कि संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति को शोभा नहीं देता.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इलेक्ट्रोल बॉन्ड को आजादी के बाद देश में सबसे बड़ा घोटाला करार देते हुए कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए. आखिर कैसे इस बांड के जरिए 90 फ़ीसदी चंदा भाजपा (BJP) को जो मिल रहा है, वह किस आधार पर मिल रहा है? कौन लोग दे रहे हैं और कैसे इस पैसे के दम पर भाजपा (BJP) महाराष्ट्र में खरीद-फरोख्त कर रही है. भाजपा (BJP) ने देश के सभी जिलों में अपने दफ्तर खोल दिए हैं. पैसे के खेल पर होने वाली राजनीति लोकतंत्र को खत्म कर रही है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायधीश रंजन गोगोई पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि यह वह व्यक्तित्व हैं, जो 4 जजों के साथ भाजपा (BJP) सरकार के खिलाफ मीडिया के समक्ष उपस्थित हुए थे. उन्होंने उस समय के सीजेआई दीपक मिश्रा के खिलाफ आरोप लगाए थे लेकिन आज यह खुद उसी व्यवहार को दोहरा गए हैं. इनके फैसलों पर सवालिया निशान उठ रहे हैं.

दरअसल, पिछले कई दिनों से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लगातार केंद्र सरकार को लेकर हमलावर हैं. महाराष्ट्र की सियासत को लेकर कांग्रेस में सबसे अधिक बयान भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की तरफ से ही आए हैं और उन्होंने अब एक कदम आगे बढ़कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोला है. जिस तरह की सियासत महाराष्ट्र में चल रही है, उससे लगता है कि अभी यह जुबानी जंग का दौर लंबा चलने वाला है.