जयपुर: CM गहलोत ने प्रदेशवासियों को दी मकर सक्रांति की शुभकामनाएं, बोले कि...

मकर संक्रांति पतंगबाजी का मौसम होता है. जयपुरराइट्स बड़े उत्साह के साथ पतंगबाजी का लुप्त उठाते हैं क्योंकि जयपुर ही नहीं, पूरे देश-विदेश में जयपुर की पतंगबाजी प्रसिद्ध है. 

जयपुर: CM गहलोत ने प्रदेशवासियों को दी मकर सक्रांति की शुभकामनाएं, बोले कि...
मुख्यमंत्री ने लोगों से पतंगबाजी को लेकर चाइनीज मांझा का उपयोग नहीं करने की अपील की है.

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने प्रदेशवासियों को मकर सक्रांति (Makar Sankranti) की शुभकामनाएं दी हैं. सीएम (CM) ने कहा है कि इस अवसर पर होने वाले दान पुण्य का बेहद महत्व होता है, इसलिए अधिक से अधिक नागरिकों को जरूरतमंदों की मदद (Help) करनी चाहिए.  

मुख्यमंत्री ने लोगों से पतंगबाजी को लेकर चाइनीज मांझा का उपयोग नहीं करने की अपील की है. सीएम ने कहा कि ऐसी डोर का उपयोग नहीं होना चाहिए, जिससे किसी व्यक्ति और पक्षी को नुकसान पहुंचे. 

गौरतलब है कि मकर सक्रांति (Makar Sankranti) के अवसर पर होने वाली पतंगबाजी में चाइनीज मांझे के उपयोग को लेकर सरकार बेहद सजग है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस संबंध में बैठक लेकर अधिकारियों को निर्देशित किया था और राजस्थान में चाइनीस मांझे की बिक्री और उसके उपयोग की रोकथाम के लिए दिशा निर्देश दिए थे.

बता दें कि एयरपोर्ट प्रशासन ने एयरपोर्ट परिधि के आसपास लोग पतंगबाजी नहीं करें, उसके लिए जिला कलेक्टर को पत्र लिखा है क्योंकि जयपुर एयरपोर्ट पर फ्लाइटों का आवागमन रहता है. पतंगबाजी की डोर से बड़ी दुर्घटना होने का अंदेशा बना रहता है.

मकर संक्रांति पतंगबाजी का मौसम होता है. जयपुरराइट्स बड़े उत्साह के साथ पतंगबाजी का लुप्त उठाते हैं क्योंकि जयपुर ही नहीं, पूरे देश-विदेश में जयपुर की पतंगबाजी प्रसिद्ध है. उसको ध्यान में रखकर जयपुर एयरपोर्ट प्रशासन ने एडवाइजरी जारी की है कि जयपुरराइट्स एयरपोर्ट परिधि के 5 किलोमीटर की दूरी पर रहकर पतंगबाजी करें और रात्रिकाल में विशिंग लैंप भी नहीं उठाए ताकि हवाई यात्रियों की जान को खतरे में नहीं डाले.