किसानों के लिए CM गहलोत ने केंद्र सरकार से मांगा सहयोग, कही यह बड़ी बात

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग के बिना यह नहीं हो सकता. सहकारिता को आंदोलन बनाना होगा तभी लोगों को ज्यादा लाभ मिलेगा. 

किसानों के लिए CM गहलोत ने केंद्र सरकार से मांगा सहयोग, कही यह बड़ी बात
गहलोत बोले- गेहूं के लिए अमेरिका से भीख मांगने नहीं पड़ती है.

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उदयपुर संभाग में नवनिर्मित दो अलग-अलग भवनों का लोकार्पण किया. मुख्यमंत्री ने 196 लाख की लागत से बने CCB प्रधान कार्यालय भवन और 122 लाख की लागत से बने चंदेरिया सहकार भवन का लोकार्पण किया. 

इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सहकारिता आंदोलन में दूसरे राज्य हमसे आगे हैं, वहां पर किसान संगठन काफी मजबूत है. सरकारों को भी इन संगठनों पर निर्भर रहना पड़ता है. मैं चाहता हूं यहां पर भी नवाचार होने चाहिए. सरकार बनते ही राजस्थान में किसानों का कर्जा माफ किया लेकिन हम नेशनल बैंक का कर्जा माफ नहीं कर पाए. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग के बिना यह नहीं हो सकता. सहकारिता को आंदोलन बनाना होगा तभी लोगों को ज्यादा लाभ मिलेगा. सीएम ने कहा कि हमारा लक्ष्य 25 लाख लोगों को ब्याज मुक्त ऋण देना है. राजस्थान में किसी समय राशन के लिए दुकानों के आगे लाइन लगती थी लेकिन आज इस मामले में हम आत्मनिर्भर हो चुके हैं. गेहूं के लिए अमेरिका से भीख मांगने नहीं पड़ती है. 

किसान नेता रामनिवास मिर्धा को किया याद
अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने किसान नेता रामनिवास मिर्धा को याद करते हुए कहा आजादी के बाद कई बड़े फैसले कांग्रेस ने किए हैं, जिनमें पंचायती राज की स्थापना जैसा बड़ा कदम भी शामिल है. इसकी शुरुआत राजस्थान से हुई. मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा केंद्र सरकार ने नए कानून ला रही है लेकिन दिल्ली में बैठकर 50-60 लोग पूरे देश पर शासन नहीं कर सकते. सत्ता का विकेंद्रीकरण होना चाहिए.
सीएम ने कहा है कि प्रदेश में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित हुआ है. हम सभी के सहयोग से कोविड से मुकाबला करेंगे. सहकारिता के लिए तो नेहरू ने शानदार नारा दिया.एक सबके लिए, सब एक के लिए यह नारा आज कोविड में भी फिट बैठता है.

इस नारे से ही हम कोविड की जंग जीत सकते हैं. सहकारिता के महत्व को पंडित नेहरू ने पहचाना था कहा - महामारी ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया. इसी कारण आज वीसी से बात करनी पड़ रही है. लेकिन हम दूर होकर भी पास में है.कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है. जागरूकता अभियान को लगातार बनाए रखने की अपील. लापरवाही करने पर तकलीफ हो सकती है. विशेषज्ञों के अनुसार कोविड अभी बढ़ सकता है.