राजस्थान विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर सीएम गहलोत ने दिया जवाब, कहा...

मुख्यमंत्री ने वर्तमान परिस्थितियों में बीजेपी के नेताओं की बयानबाजी को लेकर आलोचना की. सीएम ने कहा भाजपा नेता अपनी बयानबाजी में एकदम निचले स्तर पर आ गए हैं. 

राजस्थान विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर सीएम गहलोत ने दिया जवाब, कहा...
सीएम ने कहा मिलावट खोरी को लेकर सरकार कड़ा कानून लाने की तैयारी कर रही है.

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर का जवाब दिया. सीएम ने अपने संबोधन की शुरुआत में ही बीजेपी के नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि नेता प्रतिपक्ष ने जो सुझाव दिए हैं वह सराहनीय है. लेकिन राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान वॉक आउट करना समझ से परे था. यह नहीं होना चाहिए. 

मुख्यमंत्री ने वर्तमान परिस्थितियों में बीजेपी के नेताओं की बयानबाजी को लेकर आलोचना की. सीएम ने कहा बीजेपी नेता अपनी बयानबाजी में एकदम निचले स्तर पर आ गए हैं. अब वे बयानबाजी में गोली मारने तक की बात कहने लगे हैं जो कि शर्मनाक है. सीएम ने कहा एनआरसी और सीएए के विरोध पर यूपी में जिस तरीके से हिंसा हुई सबके सामने थी लेकिन जयपुर में जब शांति मार्च निकाला गया उसमें एक झंडा भी नहीं नीचे गिरा. इससे सबक लेना चाहिए था. 

वहीं, देश के आर्थिक मुद्दों पर बोलते हुए सीएम ने कहा कि आज देश में अर्थव्यवस्था आईसीयू में चली गई है. राजस्थान को भी इससे बड़ा नुकसान हुआ है. राजस्थान को जीएसटी सीएसटी से जो हिस्सा मिलना चाहिए था वह नहीं मिल रहा है लेकिन इसके बावजूद राजस्थान में सरकार विकास योजनाओं को लेकर प्रतिबद्ध है. रिफाइनरी के मुद्दे पर गहलोत ने बीजेपी को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा रिफाइनरी जैसे प्रोजेक्ट को बीजेपी ने केवल राजनीतिक उद्देश्य के चलते ठंडे बस्ते में डाल दिया था. लेकिन कांग्रेस सरकार इस प्रोजेक्ट को लेकर बहुत गंभीर है. 

सीएम ने कहा रिफाइनरी में 20362 करोड के वर्क आर्डर जारी हो चुके हैं. रिफाइनरी का काम तय समय पर पूरा किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने देश में यूपीए सरकार आरटीआई लेकर आई थी जिसे बीजेपी ने कमजोर किया लेकिन राजस्थान में अब विभिन्न विभागों की सूचनाओं को ऑनलाइन करने का काम कर रही है. मनरेगा में लगातार सरकार लोगों को रोजगार दे रही है. राजस्थान में मनरेगा में 30 लाख लोगों को सरकार बनने के बाद रोजगार मिला है. किसानों की कर्ज माफी को लेकर सीएम ने कहा राजस्थान में राहुल गांधी ने किसानों से जो वादा किया था उसे पूरा किया गया है. 

राजस्थान में बीजेपी ने 8000 करोड रुपए किसान कर्ज माफी की घोषणा की थी लेकिन केवल 2000 करोड़ रुपए की ही ऋण माफी की गई. उसमें 6000 करोड़ का भार भी कांग्रेस सरकार पर आया है. राजस्थान में कांग्रेस सरकार ने 20 लाख किसानों के कर्ज माफ किए हैं. इनमें भी 9 लाख किसान ऐसे हैं जिनको 2 लाख से ज्यादा की कर्ज माफी का लाभ हुआ है.

सीएम ने कहा राजस्थान में समर्थन मूल्य को लेकर सिस्टम को बेहतर बना दिया है. किसानों के भुगतान को 3 दिनों के भीतर किया जा रहा है. राजस्थान में 1 लाख 80 हजार किसानों की कृषि कनेक्शन जारी किए गए हैं. जो वादा किसानों से बिजली को लेकर सरकार ने किया था पूरा किया जाएगा. 5 साल तक राजस्थान में बिजली की दरों में इजाफा नहीं होगा. 

वहीं, टिड्डी प्रकोप को लेकर सीएम ने कहा दुनिया के कई देशों में टिड्डी का प्रकोप रहा है. राजस्थान सरकार ने इस चुनौती से निपटने की पूरी कोशिश की है. राजस्थान के इन प्रयासों की केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री ने भी सराहना की है. इसे लेकर सरकार 100 करोड रुपए देने की घोषणा कर चुकी है. अब बीमा कंपनियों को 500 रुपए दिए गए हैं ताकि किसानों के नुकसान की भरपाई की जा सके. मुख्यमंत्री ने निरोगी राजस्थान योजना को लेकर कहा कि लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के मकसद से यह योजना लाई गई है. राजस्थान में मिलावट खोरी को लेकर सरकार बहुत गंभीर है. मिलावट खोरी को लेकर सरकार कड़ा कानून लाने की तैयारी कर रही है.