राजस्थान रोडवेज को घाटे से उभारने के लिए CMD के प्रयास, सख्त निर्देश जारी

राजस्थान रोडवेज के सीएमडी नवीन जैन ने रोडवेज को घाटे से उभारने के लिए अब सख्त नजर आ रहे हैं.

राजस्थान रोडवेज को घाटे से उभारने के लिए CMD के प्रयास, सख्त निर्देश जारी
फाइल फोटो

दामोदर प्रसाद, जयपुर: राजस्थान रोडवेज के सीएमडी नवीन जैन ने रोडवेज को घाटे से उभारने के लिए अब सख्त नजर आ रहे हैं. रोडवेज की अधिकारी, स्टाफ कार उपयोग में नहीं लेकर बस से सफर करने के 14 बिंदू के निर्देश जारी किए हैं. रोडवेज के अधिकारियों और कर्मचारियों के ऐशो आराम के खर्च पर नकेल कसने से रोडवेज की गति को बचत से बढ़ाने की कवायद होगी. क्योंकि लंबे समय से रोडवेज को घाटे से उभारने के लिए पिछले कई अधिकारियों ने भी कोशिशें की है, लेकिन अब नए रोडवेज के सीएमडी नवीन जैन ने नई कोशिश की शुरूआत कितनी कारगर साबित होगी आने वाले वक्त ही बताएगा.

ये भी पढ़ें: भारत-चीन गतिरोध पर भी बोलें PM मोदी, देश को वास्तविकता जानने का हक: अशोक गहलोत

14 बिंदू के निर्देश के साथ रोडवेज सीएमडी की सख्ती—

1.भोजन सत्कार, अल्पहारों, मनोरंजन और सेमीनार के आयोजन पर पूर्णरूप से बंद रहेगा, साधारण रूप से ही कार्य होंगे.
2.रोडवेज के अधिकारी—स्टाफ कार पर नकेल कसते हुए रोडवेज बसों में सफर करने के निर्देश जारी किए. कार्य क्षेत्र के बाहर यात्रा करने पर जहां तक संभव हो बस से ही यात्रा करें.
3.रोडवेज कार्यालय व आवास पर निर्धारित मापदंडों से अधिक टेलिफोन—एसटीडी का उपयोग नहीं करने के निर्देश.
4.रोडवेज के कार्यालयों में अधिकारी व कर्मचारी बिजली खर्च पर भी अंकुश करे. कार्यालय, इकाई पर निर्धारित समय से पूर्व, लंच के समय और कार्यालय समय पश्चात अनावश्यक बिजली का उपयोग नहीं हो. कार्यालय खाली रहने पर बिजली उपकरणों के स्वीच बंद रखे.
5.निगम का वाहन डीजल औसत में बस एवं मार्ग की दैनिक रूप से मोनेटरिंग कि जाए,,,रोडवेज चालकों को प्रोत्साहन और अनुशासनात्मक कार्रवाई निश्चत करे.
6.सडक दुर्घटनाओं में दोषी पाए जाने पर चालकों के विरूद्ध तुरंत कार्रवाई कर एक महीने इनका निस्तारण किया जाए.
7.रोडवेज वाहनों के रख रखाव की जांच के बाद ही वाहन की ग्रुप प्रभारी लॉगशीट पर हस्ताक्षर के बाद ही वाहन मार्ग पर भेजी जाए. इसके बाद भी वाहन संचालन पर ब्रेक डाउन होते है तो ग्रुप प्रभारी की जिम्मेदारी होगी.
8.कार्यशाला से वाहन समय अवधि पर निकलना ताकि रूटों पर पडने वाले स्टैंडों पर यात्रियों को समय पर बसें मिल सके ताकि यात्रीभार 100 प्रतिशत किया जाए.
9.कम आय देने वाले मार्गो की समीक्षा कर कैसे आय बढ़ाई जा सके.
10.अधिक किलोमीटर संचालन के अंतर्गत समान्तर संचालन को रोका जाए.
11.सरप्लस स्टाफ की सूचना मुख्यालय पर दी जाए ताकि अन्य जगहों पर तैनाती की जाए.
12.कर्मचारी के बकाया भुगतान के रिकॉर्ड की जांच कर ही जारी किया जाए.
13.एमएसीटी केसो पर विधि विभाग अलग से दिशा निर्देश जारी कर लोक अदालतों का आयोजन कर खर्चो को कम किया जाए.,
14.कोरोना काल में वाहनों का संचालन कम होने से रोडवेज के विभिन्न डिपो कार्यशालाओं के बाहरी कार्यो को बंद करे,,,विभागाध्यक्ष की अनुमति पर कार्य करे.

23 साल से खस्ताहाल चली आ रही रोडवेज की माली हालत को कोरोना काल के चलते बसों का संचालन कम होने से कोढ में खाज साबित हो गई. कोरोना काल रोडवेज के लिए काल बनकर आया है ऐसे समय में रोडवेज की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए सीएमडी ने महत्वपूर्ण कदम उठाया है.

ये भी पढ़ें: राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने आदेश जारी कर किया 15 समितियों का गठन