कोटा में बढ़ते रहे कोरोना के केस, आयुक्त ने समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिए अहम निर्देश

कैलाश चंद्र मीणा ने कहा कि, कोविड-19 के केस जिस स्थान पर अधिक पाए जा रहे हैं, उन्हें सूचीबद्ध कर सुरक्षात्मक उपाय करते हुए, आम लोगों को भी बचाव के लिए जागरूक करें.

कोटा में बढ़ते रहे कोरोना के केस, आयुक्त ने समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिए अहम निर्देश
शहर में कोविड जांच के नमूने संग्रहण का दायरा बढ़ाया जाएगा.

कोटा: संभागीय आयुक्त कैलाश चंद्र मीणा कलेक्ट्रेट स्थित वीसी कक्ष में कोविड-19 (COVID-19) की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा किया. उन्होंने जिले में कोविड पॉजिटिव के केसों की लगातार बढ़ती संख्या पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि, सरकार द्वारा कोविड बचाव के लिए जारी गाइडलाइन का पालन कराते हुए संक्रमित क्षेत्रों में प्रभावी कदम उठाएं.

कैलाश चंद्र मीणा ने कहा कि, कोविड-19 के केस जिस स्थान पर अधिक पाए जा रहे हैं, उन्हें सूचीबद्ध कर सुरक्षात्मक उपाय करते हुए, आम लोगों को भी बचाव के लिए जागरूक करें. उन्होंने कहा कि, आने वाले बरसात के समय नागरिक सामान्य मौसमी बीमारियों के कारण कोविड के लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करें. जांच करवाने के साथ बचाव के लिए प्रोटोकॉल का पालन करें, यह सुनिश्चित किया जाए.
 
संभागीय आयुक्त ने कहा कि, शहर में कोविड के हॉटस्पॉट (Hotspot) के रूप में सामने आ रहे संवेदनशील स्थानों, बाजारों, सब्जीमंडी व ग्रुप हाउसिंग क्षेत्रों में बचाव के लिए सामाजिक दूरी का पालन, मास्क लगाकर घर से निकलना  बार-बार साबुन से हाथ धोने के लिए लोगों को प्रेरित करें.

उन्होंने कोविड पॉजिटिव पाए गए क्षेत्र में सभी नागरिकों के नमूने लेने के लिए चिकित्सा विभाग तथा संपूर्ण क्षेत्र को सैनिटाइज करने के लिए नगर निगम को निर्देशित किया है. जिले में कोविड-19 के नमूने लेने की क्षमता का अधिक से अधिक उपयोग किया जाकर जांच के नमूने बढ़ाए जाएं.
 
वहीं, जिला कलेक्टर उज्जवल राठौड़ ने कहा कि, कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए चिकित्सा विभाग, नगर निगम व पुलिस समन्वय के साथ कार्य करते हुए, प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करें. उन्होंने कहा कि, शहर में स्वास्थ्य केन्द्रों पर होने वाले कोरोना जांच के नमूनों की संख्या बढ़ाकर संवेदनशील क्षेत्रों में विशेष टीम के साथ, नमूने संग्रहित करें.

उन्होंने बाजारों में सोशल डिस्टेसिंग (Social Distancing) का पालन कराने, मास्क लगाकर ही लोगों को घर से निकलने के लिए प्रेरित करने के लिए, जागरूकता कार्यक्रम जारी रखने के निर्देश दिए.

ये निर्णय लिए गए:
-शहर में कोविड जांच के नमूने संग्रहण का दायरा बढ़ाया जाएगा.
-कोरोना पॉजिटिव पाए जाने वाले क्षेत्रों में नगर निगम समय पर सैनिटाइज करेगा.
-शहर में प्रमुख बाजारों में मास्क, सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए टीम गठित कर जांच कराई जाएगी तथा उल्लंघन पाए जाने   पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी.
-शहर में लगे हुए ठेले, फुटकर विक्रेताओं का सर्वे कर निगम चिकित्सा विभाग के माध्यम से सभी की कोविड जांच करवाना सुनिश्चित करेंगे.
-सभी कार्यालयों में सैनिटाइजर व मुख्य द्वार पर प्रवेश के समय हाथ धोने के बाद प्रवेश देने, सामाजिक दूरी व मास्क का उपयोग किए  जाने के लिए संबंधित कार्यालयाध्यक्ष की जिम्मेदारी तय की जाएगी.
-औद्योगिक क्षेत्रों में कोरोना से बचाव के लिए जारी प्रोटोकॉल के पालन की, जांच के लिए टीम गठित द्वारा जाकर निरीक्षण कराया  जाएगा. वहीं, किसी भी स्थान पर लापरवाही पाए जाने पर जुर्माना लगाया जाएगा.
-शहर में चलने वाले ऑटो रिक्शा एवं शहरी यातायात के साधनों पुलिस द्वारा जांच कर, मास्क व सामाजिक दूरी का पालन कराया   जाएगा. साथ ही, लापरवाही पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.
-शहर में वर्तमान स्थान पर चल रही सब्जी मंडियों में भीड़ को कम करने के लिए, वैकल्पिक स्थान तलाश कर वहां सब्जी विक्रय शुरू  कराया जाएगा.