कोटा: कोविड संक्रमण को रोकने के लिए आयुक्त ने कलेक्टरों को लिखा पत्र, कहा...

कोरोना (Corona) संक्रमण को रोकने के लिए प्रतिदिन आवागमन करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों पर रोक लगाने के लिए, संभागीय आयुक्त कैलाश चन्द मीणा ने, संभाग के चारों जिला कलेक्टरों को पत्र लिखकर, ऐसे कार्मिकों को मुख्यालय पर रहने के लिए पाबंद करने के निर्देश दिए हैं. संभागीय आयुक्त ने जिला कलक्ट

कोटा: कोविड संक्रमण को रोकने के लिए आयुक्त ने कलेक्टरों को लिखा पत्र, कहा...
कार्मिकों को मुख्यालय पर रहने के लिए पाबंद करने के निर्देश दिए हैं.

कोटा: कोरोना (Corona) संक्रमण को रोकने के लिए प्रतिदिन आवागमन करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों पर रोक लगाने के लिए, संभागीय आयुक्त कैलाश चन्द मीणा ने, संभाग के चारों जिला कलेक्टरों को पत्र लिखकर, ऐसे कार्मिकों को मुख्यालय पर रहने के लिए पाबंद करने के निर्देश दिए हैं.

संभागीय आयुक्त ने जिला कलक्टरों को लिखे पत्र में निर्देशित किया है कि, कोरोना संक्रमण प्रतिदिन कार्यस्थल पर आवागमन करने वाले नागरिकों के कारण, तीव्र गति से फैलने का अंदेशा है. ऐसे में इस प्रकार के कार्मिकों को चिन्हित कर, मुख्यालय पर रहने के लिए पाबंद करें.

संभागीय आयुक्त ने बताया कि, कोटा शहर से प्रतिदिन बड़ी संख्या में अधिकारी, कर्मचारी जिले के अन्य स्थानों के साथ-साथ बारां, बूंदी, झालावाड़ भी आवागमन करते हैं. कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने के कारण ऐसे व्यक्ति कोरोना के संवाहक के रुप में सामने आ सकते हैं.

उन्होंने कहा कि, ऐसे व्यक्तियों के कारण संक्रमण फैलने की आशंका बनी रहती है. संभागीय आयुक्त ने सभी जिला कलेक्टर को ऐसी स्थिति से बचने के लिए राजकीय कर्मचारियों के प्रतिदिन, आवागमन पर पूरी तरह अंकुश लगाने के निर्देश दिए हैं.

उन्होंने प्रतिदिन आवागमन करने वाले कार्मिकों को चिन्हित कर, पदस्थापन स्थान पर रहने के लिए पाबंद करने के निर्देश दिए हैं. कैलाश चन्द मीणा ने बताया कि, ऐसे अधिकारी, कर्मचारी जो अपने मुख्यालय पर निवास नहीं करते, उनके द्वारा मकान किराया भत्ता रोककर, पूर्व में उठाए गए भत्ते की वसूली की कार्रवाई भी की जाए. उन्होंने संभाग के कलेक्टरों को आदेश जारी कर, संभागीय आयुक्त कार्यालय को सूचना प्रेषित करने के निर्देश दिए हैं.