जयपुर: CAA को लेकर कांग्रेस सांसद शशि थरूर का बयान, बोले- हम सहमत नहीं पर लागू तो...

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल (Jaipur Literature Festival) में मीडिया से बात करते हुए थरूर ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के मामले में काम तो केंद्र का ही है और वह कर भी लेगी.

जयपुर: CAA को लेकर कांग्रेस सांसद शशि थरूर का बयान, बोले- हम सहमत नहीं पर लागू तो...
धर्म के आधार पर नागरिकता देने का विचार पाकिस्तान का विचार है.

जयपुर: कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) का कहना है कि केरल, राजस्थान आदि राज्यों द्वारा नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के खिलाफ पारित प्रस्ताव एक राजनीतिक स्टेटमेंट है. हम इससे सहमत नहीं हैं लेकिन यदि इसे लागू करने की बात होगी तो करना पड़ेगा क्योंकि नागरिकता तो केंद्र सरकार (Central Government) ही दे सकती है.

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल (Jaipur Literature Festival) में मीडिया से बात करते हुए थरूर ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के मामले में काम तो केंद्र का ही है और वह कर भी लेगी लेकिन राज्यों का जो विरोध है, उस पर ध्यान देना चाहिए. 

उन्होंने कहा कि सीएए के बाद जब केंद्र एनपीआर या एनआरसी करना चाहेगी, तब राज्यों का सहयोग जरूरी होगा और उस समय राज्य मना कर देंगे तो केंद्र क्या करेगा? उन्होंने कहा कि धर्म के आधार पर नागरिकता देने का विचार पाकिस्तान का विचार है.

राज्य सरकारों द्वारा सब्सिडीज दिए जाने के मुददे पर थरूर ने कहा कि गरीबों को सब्सिडी दी जाए तो उसमें कोई बुराई नहीं है, लेकिन यदि सबको देंगे तो सरकार दिवालिया होगी ही. यदि हम अपनी लागत का वापस कुछ भी नहीं ले रहे हैं तो एक दिन दिक्कत आएगी ही. उन्होंने कहा कि दिल्ली के वोटर को यह बात समझनी चाहिए क्योंकि केजरीवाल की सरकार कहती बहुत ज्यादा लेकिन जमीन पर बहुत कम दिखता है.