जयपुर: निकाय चुनाव की सफलता से खुश है कांग्रेस, पंचायत चुनाव से पहले अपनाया ये दांव

पंचायत चुनाव के लिए आचार संहिता लगने से पहले राज्य सरकार कांग्रेसी नेताओं कार्यकर्ताओं को राजनीतिक नियुक्तियों का तोहफा दे देगी. 

जयपुर: निकाय चुनाव की सफलता से खुश है कांग्रेस, पंचायत चुनाव से पहले अपनाया ये दांव
इसी साल प्रदेश में जिला और ब्लाक स्तर पर पॉलिटिकल अपॉइंटमेंट कर दिए जाएंगे.

जयपुर: निकाय चुनाव में मिली सफलता के बाद अब पंचायत चुनाव से ठीक पहले कार्यकर्ताओं को चार्ज करने के लिए कांग्रेस सरकार राजनीतिक नियुक्तियों का तोहफा देने जा रही है. राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर चार मंत्रियों को छोड़कर सभी मंत्रियों ने अपनी रिपोर्ट संगठन को सौंप दी है.

माना जा रहा है कि इसी साल प्रदेश में जिला और ब्लाक स्तर पर पॉलिटिकल अपॉइंटमेंट कर दिए जाएंगे. राजस्थान में राजनीतिक नियुक्तियों का इंतजार अब खत्म होने जा रहा है. नए साल से पहले कांग्रेसी कार्यकर्ताओं नेताओं को राजनीतिक नियुक्तियों का तोहफा मिल जाएगा. चार मंत्रियों को छोड़कर अभी तक सभी मंत्रियों ने अपनी रिपोर्ट संगठन को दे दी है.

जानकारी के मुताबिक, अभी तक गोविंद सिंह डोटासरा सुभाष गर्ग सहित चार मंत्रियों ने अपनी रिपोर्ट संगठन को नहीं सौंपी है. उन्हें जल्द से जल्द रिपोर्ट देने के लिए निर्देश दिए गए हैं.

ऐसे में माना जा रहा है कि पंचायत चुनाव के लिए आचार संहिता लगने से पहले राज्य सरकार कांग्रेसी नेताओं कार्यकर्ताओं को राजनीतिक नियुक्तियों का तोहफा दे देगी. प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने भी यह स्पष्ट किया कि जिला और ब्लॉक स्तर पर नियुक्तियां इसी साल हो जाएंगी जबकि प्रदेश स्तरीय नियुक्तियों में हो सकता है अभी समय लगे. उनके लिए नेताओं कार्यकर्ताओं को भी थोड़ा इंतजार करना होगा.

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार राजस्थान लोक सेवा आयोग, राज्य महिला आयोग, अल्पसंख्यक आयोग, किसान आयोग, अनुसूचित जनजाति आयोग, राजस्थान सफाई कर्मचारी आयोग, राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग, समाज कल्याण बोर्ड, राज्य क्रीड़ा परिषद, समाज कल्याण बोर्ड तथा जन अभाव अभियोग निराकरण समिति जैसे दर्जनों ऐसे संगठन हैं. जहां इस तरह की राजनीतिक नियुक्तियां करती हैं.

मंत्रिपरिषद की बैठक में हुई नियुक्तियों की चर्चा
दरअसल रविवार को मुख्यमंत्री आवास पर हुई मंत्रिपरिषद की बैठक के दौरान भी राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर चर्चा हुई. केंद्रीय नेतृत्व की ओर से प्रदेश में जल्द से जल्द राजनीति करने के लिए ग्रीन सिग्नल दिया जा चुका है.

युक्तियों को लेकर सत्ता और संगठन के बीच तालमेल बना रहे लिहाजा प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे और सह प्रभारी विवेक बंसल को इसकी जिम्मेदारी दी गई है. पहले चरण में ब्लॉक और जिलों में राजनीति की जाएगी.
निकाय चुनाव में कांग्रेस को मिली सफलता के बाद अब कार्यकर्ता भी सरकार की तरफ उम्मीद भरी नजरों से देख रहा है. ऐसे में कांग्रेस सरकार का मकसद है कि इन नियुक्तियों के जरिए कार्यकर्ताओं को सत्ता में भागीदारी दी जाए ताकि पंचायत चुनाव में कार्यकर्ता ने उत्साह के साथ काम कर सके.