कृषि बिल पर आर-पार की लड़ाई के मूड में कांग्रेस, केंद्र को घेरने के लिए राजस्थान में करेगी आंदोलन

कृषि विधेयकों के खिलाफ प्रदेश के धारा 144 वाले 11 जिलों में विरोध प्रदर्शन सांकेतिक होंगे. बाकी जिलों में कांग्रेस के धरने प्रदर्शन आयोजित होंगे.

कृषि बिल पर आर-पार की लड़ाई के मूड में कांग्रेस, केंद्र को घेरने के लिए राजस्थान में करेगी आंदोलन
कृषि बिल के खिलाफ केंद्र को घेरने की तैयारी में कांग्रेस. (फाइल फोटो)

जयपुर: कृषि बिलों (Agricultural Bill) खिलाफ आर-पार की लड़ाई के मूड में आ चुकी कांग्रेस (Congress) का गुरुवार से देश भर में अभियान शुरू हो रहा है. राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन (Ajay Maken) दिल्ली से ही शाम पांच बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रेसवार्ता करेंगे. माकन के साथ प्रेसवार्ता में वीसी के जरिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और पीसीसी चीफ (PCC) गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotsara) भी जुड़ेंगे और प्रेसवार्ता में बिल की खामियां उजागर करेंगे.

 
प्रदेश प्रभारी अजय माकन आज वीसी के जरिए प्रेस कॉन्फ्रेंस करके राजस्थान में इस आंदोलन की शुरुआत करेंगे. इसके बाद 28 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से लेकर राजभवन तक कांग्रेस का पैदल मार्च होगा. पैदल मार्च के बाद राज्यपाल को ज्ञापन दिया जाएगा.

2 अक्टूबर को प्रदेश कांग्रेस किसान मजदूर दिवस मनाएगी. 2 अक्टूबर को ही विधानसभा क्षेत्रों और जिला मुख्यालयों पर कृषि विधेयकों के खिलाफ धरने प्रदर्शन होंगे. 10 अक्टूबर को जयपुर सहित अन्य जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस किसान सम्मेलन आयोजित करेगी.

कृषि विधेयकों के खिलाफ प्रदेश के धारा 144 वाले 11 जिलों में विरोध प्रदर्शन सांकेतिक होंगे. बाकी जिलों में कांग्रेस के धरने प्रदर्शन आयोजित होंगे. हालांकि, यहां भी 50 व्यक्तियों की संख्या और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन और मास्क लगाकर ही विरोध प्रदर्शन करने को कहा गया है.