Jalore में फूटा Congress कार्यकर्ताओं का गुस्सा, बोले- सुनवाई होगी या पार्टी छोड़ें

कई दिग्गज कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ कार्यकर्ताओं ने कहा कि हमारी सुनी नहीं जाती है, अगर नेताओं ने नहीं सुनी तो हम पार्टी छोड़ देंगे. 

Jalore में फूटा Congress कार्यकर्ताओं का गुस्सा, बोले- सुनवाई होगी या पार्टी छोड़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर.

बबलू मीणा, जालोर: जिला कांग्रेस कमेटी (District Congress Committee) की बैठक का आयोजन नवनियुक्त प्रदेश सचिव और जिला प्रभारी भूराराम सीरवी (Bhuraram seervi) की मौजूदगी में राजीव गांधी भवन में हुआ. बैठक के दौरान कांग्रेस की संगठनात्मक गतिविधियों के साथ-साथ पार्टी को मजबूत करने को लेकर चर्चा होनी थी, लेकिन इससे पहले ही कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों का गुस्सा फूट पड़ा. 

यह भी पढ़ें- K C Venugopal ने की Jaipur की सरप्राइज विजिट, CM Gehlot के साथ हुई लंबी बैठक

 

कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने अनदेखी समेत कई आरोप लगाए. बैठक के दौरान कई दिग्गज कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ कार्यकर्ताओं ने कहा कि हमारी सुनी नहीं जाती है, अगर नेताओं ने नहीं सुनी तो हम पार्टी छोड़ देंगे. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan में 3 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव, प्रतिष्ठा के लिए Congress चल सकती है यह दांव

 

सायला ब्लॉक के नेताओं ने पूर्व जिला प्रमुख और विधानसभा प्रत्याशी रही मंजू मेघवाल पर कई आरोप लगाते हुए सायला में बोर्ड नहीं बनने का ठीकरा उन पर फोड़ डाला. इस दौरान सायला क्षेत्र के जनप्रतिनिधि, पदाधिकारी ने आरोप लगाते हुए कहा कि या तो इनका इलाज कर दो, नहीं तो हम सब पार्टी को छोड़ने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि पंचायत समिति के प्रधान बनाने को लेकर हमने 8 से 12 वोट पर लाए लेकिन दो वोट हमारे में से ही इन्होंने गद्दारी करवाकर हरा दिया. जालोर और सायला दोनों बोर्ड इनकी वजह से कांग्रेस के हाथों से गया. इनकी वजह से यहां की कांग्रेस कमजोर होती जा रही है. 
क्या बोले जिला प्रभारी भूराराम सीरवी 
जिला प्रभारी भूराराम सीरवी (Bhuraram seervi) ने कहा कि कार्यकर्ता एकजुट होकर पार्टी के लिए काम करें. किसान बिल पर उन्होंने भाजपा पर निशाना साधा. कांग्रेस नेता ऊमसिंह चांदराई ने कहा कि गहलोत सरकार ने जो जनकल्याणकारी काम किए हैं, वो काम हर जन जन तक पहुंचाना है. इस दौरान पूर्व विधायक रामलाल मेघवाल, पूर्व पीसीसी सदस्य सवाराम पटेल, पूर्व जिलाध्यक्ष नैनसिंह राजपुरोहित, रानीवाड़ा प्रधान राघवेंद्र सिंह देवड़ा, ब्लॉक अध्यक्ष जवानाराम परिहार, सायला ब्लॉक अध्यक्ष अजीतसिंह देता, पूर्व प्रधान भंवरलाल मेघवाल, ब्लॉक अध्यक्ष लादूराम चौधरी, पूर्व प्रधान रमीला मेघवाल, जिला महासचिव शहजाद अली, जिला परिषद सदस्य लक्ष्मी मीणा व ईशराराम विश्नोई ने संबोधित किया. कार्यक्रम का संचालन जिला प्रवक्ता योगेंद्रसिंह कुंपावत ने किया. इस अवसर पर जयकिशन बिश्नोई, महेंद्रपाल सिंह चेकला, सुरेंद्र दवे, नगर अध्यक्ष जुल्फीकार अली भुट्टो, सचिव रमेश सोलंकी, पार्षद राजेंद्र सोलंकी व मिश्रीमल गहलोत समेत कई कांग्रेसी मौजूद रहे.  
हमारे घर का गलत तरीके से कनेक्शन काटा, कार्यकर्ताओं के काम कैसे करेंगे
सायला के पंचायत समिति सदस्य वार्ड 2 के प्रतिनिधि पीरु खान ने कहा कि मैं कांग्रेस से चुनाव लड़कर करीब 1500 वोटों से जीता. मेरे घर पर जेईएन आया. मीटर लगा होने के बाद भी कनेक्शन काट दिया. मैंने कांग्रेस के पूर्व विधायक को फोन किया, उनसे बात करवाई, लेकिन उसके बाद भी नहीं सुनी. सरकार हमारी है, लेकिन हमारे नेताओं की ही अधिकारी नहीं मानते हैं तो आम लोगों के काम हम कैसे करवाएंगे. 
अगर मंत्री राजीव गांधी भवन नहीं आता, तो कलेक्ट्रेट में भी घुसने नहीं देना चाहिए
कांग्रेस नेता जितेंद्रसिंह कसाना ने कहा कि कई बार जिले के मंत्री जालौर दौरे पर आते हैं, लेकिन वो राजीव गांधी भवन में आना मुनासिब नहीं समझते. प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक लेकर लौट जाते हैं. अगर कार्यकर्ताओं में शक्ति है, तो उन मंत्री को कलेक्ट्रेट परिसर में घुसने तक नहीं दिया जाना चाहिए. उन्हें कहिए कि अधिकारियों की बैठक से पहले कार्यकर्ताओं की सुनिए.  
कार्यकर्ताओं के फोन भी नहीं उठाए जाते
वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व पूर्व सायला ब्लॉक अध्यक्ष लच्छीराम माली ने कहा कि पार्टी में बड़े नेता फोन तक नहीं उठाते हैं. अगर कार्यकर्ता का फोन ही नहीं उठाया जाता, तो पार्टी के नेता उनका क्या काम करेंगे. अगर जिले में कार्यकर्ताओं की सुनवाई होनी शुरू हुई तो कांग्रेस मजबूत हो जाएगी. 
आज हम जिस कगार पर खड़े हैं, वो दर्द शब्दों में नहीं बताया जा सकता
कांग्रेस महिला प्रदेश उपाध्यक्ष ममता जैन ने संबोधित करते हुए कहा कि आज जिस कगार पर हम खड़े हैं, उसका दर्द बयां करना शायद शब्दों में नहीं बताया जा सकता. सबसे बड़ा दुख यह है कि कार्यकर्ताओं की सुनना तो दूर, हमारे पार्टी के बड़े स्तर के प्रत्याशी रहे हैं, वो खुद कहते हैं कि काम तो होते नहीं अगर यह लोग ही ऐसा कहेंगे तो फिर कार्यकर्ताओं की कौन सुनेगा?
कांग्रेस को टिकट बांटने वालों ने हराया
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व जिला उपाध्यक्ष सोहन सिंह देवड़ा (Sohan Singh Devda) ने कहा कि जालौर में कांग्रेस नहीं हारी है. यहां पर टिकट देने वालों ने कांग्रेस को हराया है. उन्होंने कहा कि यहां पर टिकट पूरी तरह से गलत दिए गए. जो लोग मद्रास समेत बाहर बैठे हैं, उनको टिकट दे दिए, वो 4-4 हजार वोटों से हारे हैं.