close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर एयरपोर्ट के नए टर्मिनल का करना होगा इंतजार, रोका गया निर्माण कार्य

इस बिल्डिंग में जगतपुरा वाले हिस्से की तरफ से डोमेस्टिक यात्रियों का डिपार्चर और टोंक रोड वाले हिस्से से अराइवल होगा.

जयपुर एयरपोर्ट के नए टर्मिनल का करना होगा इंतजार, रोका गया निर्माण कार्य
इसके लिए 1400 करोड़ रु. का बजट तय हुआ था. (फाइल फोटो)

जयपुर: जयपुर एयरपोर्ट का नया टर्मिनल-3 का निर्माण कार्य रोका जा चुका है. नए टर्मिनल का निर्माण कार्य निजी कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज के एयरपोर्ट का संचालन शुरू करने के बाद होगा. 

आपको बता दें कि जयपुर एयरपोर्ट के विस्तार का कार्य वर्ष 2011 से अटका हुआ था. वो पिछले साल अप्रैल में स्वीकृत हो गया था. एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के दिल्ली मुख्यालय ने जयपुर एयरपोर्ट के विस्तार कार्य का जिम्मा जर्मनी की कंपनी डॉर्श कंसल्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को दिया था. निजी कंपनी ने विस्तार की डिजाइन भी तय कर ली थी. एयरपोर्ट अथॉरिटी की सहमति के बाद फील्ड वर्क शुरू करने जा रही थी. .

निजीकरण की प्रक्रिया से अटका काम
इस दौरान जुलाई 2019 से धरातल पर काम शुरू होना था. लेकिन इस बीच निजीकरण की प्रक्रिया ने इसे अटका दिया है. जयपुर नए टर्मिनल-3 के निर्माण के बाद यह टर्मिनल-2 से 7 गुना बड़ा होगा.

लाइव टीवी देखें-:

1400 करोड़ तय था बजट
एयरपोर्ट अथॉरिटी ने टर्मिनल-3 के लिए करीब 1400 करोड़ रु. का बजट तय किया था. नया टर्मिनल 1.25 हजार वर्गमीटर क्षेत्र में बनाया जाना है. यानी मौजूदा बिल्डिंग टर्मिनल-2 से 7 गुना बड़ा होगा. बता दें, 31 जुलाई तक एयरपोर्ट संचालन निजी कंपनी अडानी को सौंपा जाना है, ऐसे में प्रशासन अब केवल टर्मिनल-2 की बिल्डिंग का विस्तार और टर्मिनल-1 का रिनोवेशन करवा रहा है. जिपर करीब 70 करोड़ खर्च हो रहे हैं.

दो नई बिल्डिंग है प्रस्तावित
नए टर्मिनल के तहत दो नई बिल्डिंग बनाना प्रस्तावित है. जो कि मौजूदा टर्मिनल बिल्डिंग के दोनों तरफ बनाई जानी हैं. इस बिल्डिंग में जगतपुरा वाले हिस्से की तरफ से डोमेस्टिक यात्रियों का डिपार्चर और टोंक रोड वाले हिस्से से अराइवल होगा.