सहकारिता मंत्री ने केंद्र को लिखा पत्र, मल्टी स्टेट कोऑपरेटिव सोसायटियों पर कार्रवाई की मांग

 आंजना ने केंद्र सरकार को राज्य में हजारों लोगों की गाढ़ी कमाई का पैसा डकार चुकी मल्टी स्टेट कोऑपरेटिव सोसासटियों के खिलाफ भारत सरकार को कठोर कार्रवाई करनी चाहिए ताकि गरीबों का पैसा जल्द मिल सके. 

सहकारिता मंत्री ने केंद्र को लिखा पत्र, मल्टी स्टेट कोऑपरेटिव सोसायटियों पर कार्रवाई की मांग
फाइल फोटो

विष्णु शर्मा, जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मल्टी स्टेट कोऑपरेटिव सोसायटियों (Multi State Cooperative Societies) पर कार्रवाई के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखने के बाद राज्य के सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने भी यह मांग उठाई है. आंजना ने केंद्र सरकार को राज्य में हजारों लोगों की गाढ़ी कमाई का पैसा डकार चुकी मल्टी स्टेट कोऑपरेटिव सोसासटियों के खिलाफ भारत सरकार को कठोर कार्रवाई करनी चाहिए ताकि गरीबों का पैसा जल्द मिल सके. 

ये भी पढ़ें: नगर निगम चुनाव-2020: नामांकन प्रक्रिया पूरी, 23 अक्टूबर को चुनाव चिन्हों का आवंटन

सहकारिता मंत्री आंजना ने आज अपने सरकारी निवास पर मीडिया से बातचीत में कहा कि मल्टी स्टेट कोऑपरेटिव सोसायटियों के लोगों के जीवनभर की कमाई हड़पने के मामले सामने आ रहे हैं. राजस्थान में 1419 करोड़ रूपए डकार गई सोसायटियां. कई लोग विक्षिप्त हो गए हैं. केंद्र सरकार इन सोसायटियों पर पुख्ता कार्रवाई के बजाय घड़ियाली आंसू बहा रही है. मुख्यमंत्री ने भी प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है, लेकिन केंद्र सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है.

दूसरी ओर सहकारिता मंत्री आंजना ने कहा कि राजस्थान में एक नवम्बर से किसानों को  फसली ऋण वितरित करना शुरू कर दिया जाएगा. ऋण वितरिण के दौरान किसानों को आने वाली समस्याओं का भी निराकरण किया जाएगा. 

आंजना ने कहा कि प्रदेश में फर्जी गृह निर्माण सहकारी समितियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. पूर्व सरकार ने ध्यान नहीं दिया और सोसायटियों ने नियम ताक पर रख दिए. हम ऐसी सोसायटियों को पाबंद कर रहे हैं. सहकारी समितियों के चुनाव भी जल्द कराए जाएंगे.

ये भी पढ़ें: दूसरों को उधार बांटती थी 'दादी', नाराज पोते ने ले ली वृद्धा की जान