राजस्थान: अवैध खनन के खिलाफ अभियान तेज, 6236 टन बजरी समेत 23 वाहन जब्त

अभियान का संचालन जिला कलक्टर के निर्देशन में राजस्व, वन, परिवहन, पुलिस और खान विभाग की संयुक्त टीम द्वारा किया जा रहा है.

राजस्थान: अवैध खनन के खिलाफ अभियान तेज, 6236 टन बजरी समेत 23 वाहन जब्त
राजस्थान में अवैध खनन के खिलाफ अभियान तेज, (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर: राजस्थान में बजरी माफिया के खिलाफ शूरू किए गए अभियान में अच्छी सफलता मिली है. अभियान के पहले ही दिन 15 अक्टूबर को  6236 टन बजरी, 23 वाहन, मशीनरी जब्त किए गए. माइन्स एवं पेट्रोलियम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि राज्य के अतिसंवेदनशील 8 जिलों जयपुर, धौलपुर, जोधपुर, राजसमंद, चित्तोड़गढ़, भीलवाड़ा, टोंक और सवाई माधोपुर में 15 से 31 अक्टूबर तक बजरी के अवैध खनन पर प्रभावी रोकथाम के लिए अभियान चलाया जा रहा है.

अभियान का संचालन जिला कलक्टर के निर्देशन में राजस्व, वन, परिवहन, पुलिस और खान विभाग की संयुक्त टीम द्वारा किया जा रहा है. मुख्य सचिव राजीव स्वरुप ने भी जिला कलेक्टरों, पुलिस कमिश्नरों व पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिख कर अवैध बजरी खनन, निर्गमन और भंडारण के खिलाफ जिला कलेक्टर के निर्देशन में संयुक्त अभियान चलाने और संयुक्त करवाई के दौरान पूरा सहयोग देने के निर्देश दे रखे हैं.

एसीएस डॉ. अग्रवाल ने बताया कि आरंभिक सूचनाओं के अनुसार अभियान के पहले दिन भीलवाड़ा में बड़ी कार्रवाई  कर 6184 टन मौके पर पड़ी बजरी को जब्त किया. वहीं, 3 वाहन, मशीनरी जब्त करने के साथ ही 8 एफआईआर दर्ज कराई गई. चित्तोड़गढ़ में 40 टन बजरी जब्त करने के साथ ही 2 मामले दर्ज कर 2 वाहन, मशीनरी जब्त की गई.

जयपुर में 6 प्रकरणों के साथ ही 6 वाहन मशीन जब्त की गई है. टोंक में अवैध खनन, निर्गमन और भंडारण के 7 प्रकरणों की 7 एफआईआर पुलिस में दर्ज कराई गई है. टोंक में 8 वाहन मशीनरी भी जब्त की है. राजसमंद में 3 मामले सामने आए हैं, जिनमें 3 वाहन मशीन और 12 टन बजरी जब्त की गई है. जोधपुर में एक मामला सामने आने के साथ ही एक वाहन मशीन जब्त की गई है.