राजस्थान: लॉकडाउन से उत्पन्न स्थितियों से निपटने के लिए सचिवों का CORE GROUP गठित

 कोरोना वायरस (Coronavirus) से निपटने के लिए राज्य सरकार हर संभव कोशिश कर रही है.

राजस्थान: लॉकडाउन से उत्पन्न स्थितियों से निपटने के लिए सचिवों का CORE GROUP गठित
फाइल फोटो

जयपुर: कोरोना वायरस (Coronavirus) से निपटने के लिए राज्य सरकार हर संभव कोशिश कर रही है. सरकार ने राज्य में घोषित लॉकडाउन से उत्पन्न विभिन्न स्थितियों से निपटने के लिए सचिवों का CORE GROUP गठित किया है. यह कोर ग्रुप लॉक डाउन और अन्य पाबंदियों के कारण लोगों के सामने आ रही समस्याओं को दूर करने के लिए सरकार को रिपोर्ट देगा.

कोरोना वायरस से निपटने के लिए राज्य सरकार ने 22 से 31 मार्च तक संपूर्ण राजस्थान में लॉक डाउन घोषित किया हुआ है. लॉकडाउन के बाद सरकार ने परिवहन पूरी तरह ठप कर दिया है, साथ ही निजी वाहनों पर भी रोक लगा दी है. ऐसे में लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए सरकार ने आला आईएएस अफसरों काकोर ग्रुप गठित किया है.

कोर ग्रुप एसीएस गृह राजीव स्वरूप की अध्यक्षता में गठित किया गया है. कोर ग्रुप में एसीएस पंचायतीराज राजेश्वर सिंह, प्रमुख सचिव सामाजिक न्याय अखिल अरोड़ा, एलएसजी सचिव भवानी सिंह सिंह देथा, खाद्य एवं आपदा प्रबंधन सचिव सिद्धार्थ महाजन, श्रम सचिव नीरज के. पवन को सदस्य बनाया गया है.

जिस विभाग से सम्बन्धित निर्णय लिया जाना है उस विभाग के एसीएस प्रमुख सचिव और सचिव शामिल होंगे. कोर ग्रुप की बैठक में एसीएस चिकित्सा और एसीएस वित आवश्यकतानुसार शामिल होंगे. कोर ग्रुप, शट-डाउन एवं अन्य पाबंदियों के कारण आम जनता विशेषकर गरीब एवं वंचित वर्ग से सम्बन्धित बिंदुओं पर रिपोर्ट देगा. 

कोर ग्रुप राशन की दुकानों पर खाद्य पदार्थों की आपूर्ति, नरेगा श्रमिक, भवन एवं अन्य निर्माण मजदूरों, असंगठित समूह जैसे थडी-ठेला लगाने वाले, वृद्ध, दिव्यांग एवं विधवा वर्ग की पेंशन आदि जैसे मामलों पर अपनी रिपोर्ट देगा, जिससे उन्हें तुरन्त लागू किया जा सके.

कोर ग्रुप के अध्यक्ष नियमित बैठक कर उसके निर्णयों को सक्षम स्तर पर अनुमोदित कर जारी करवाएंगे. सभी एसीएस, प्रमुख सचिव, सचिव, जिला कलेक्टर इस ग्रुप की सूचना दी गई है.