Corona ने उड़ाई जयपुर जिला प्रशासन की नींद, अवकाश के दिन कलेक्टर ने बुलाई बैठक

कोरोना संक्रमण (Coronavirus) मरीजों का आंकड़ा बढ़ने के साथ ही जिला प्रशासन के अफसर की नींद उड़ गई है. 

Corona ने उड़ाई जयपुर जिला प्रशासन की नींद, अवकाश के दिन कलेक्टर ने बुलाई बैठक
इस बैठक में कुछ विभागों के अधिकारी नहीं पहुंचे.

Jaipur : कोरोना संक्रमण (Coronavirus) मरीजों का आंकड़ा बढ़ने के साथ ही जिला प्रशासन के अफसर की नींद उड़ गई है. अवकाश के दिन जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने जयपुर जिले के इंसीडेंट कमांडर, निजी चिकित्सालयों के प्रतिनिधियों और धर्मगुरुओं, एनजीओ और जिलेभर के स्वास्थ्य अधिकारियों-प्रभारी डॉक्टर्स की मीटिंग बुलाई, लेकिन इस बैठक में कुछ विभागों के अधिकारी नहीं पहुंचे. जिस पर कलेक्टर ने नाराजगी जाहिर करते हुए नोटिस थमाने के निर्देश दिए.

यह भी पढ़ें- Rajasthan में कोविड केस बढ़ने पर गहलोत ने जताई चिंता, कहा-अतिरिक्त सावधानी की जरूरत

इसी तरह जिन ब्लॉकों में वैक्सीनेशन कम हो रहा है वहां उपखंड अधिकारियों और सीएमएचओ, बीसीएमएचओ को भी नोटिस दिए जाएंगे. नेहरा ने कोविड की दूसरी लहर का जिक्र करते हुए कहा की संक्रमण ज्यादा नहीं फैले इसलिए वैक्सीनेशन पर पूरा जोर लगाना है. इसके साथ ही कोविड नियंत्रण (Corona Update Rajasthan) के लिए टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट के फार्मूले को गंभीरता से लेना होगा. नेहरा ने कहा कि लॉकडाउन खुलने के बाद सभी गतिविधियां पहले की तरह शुरू हो चुकी है. धार्मिक स्थलों पर भीड़ बढ़ने लगी है साथ में बाजारों में भी लोग कोविड-19 प्रॉटोकॉल का ध्यान नहीं रखा जा रहा है.

लापरवाही के कारण केसों की संख्या भी बढ़ने लगी है. उन्होंने 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी व्यक्तियों को कोविड वैक्सीन लगवाने की अपील की. जिससे कोरोना के बढ़ते संक्रमण (Rajasthan Corona News) पर रोक लगाई जा सके. साथ ही कम वैक्सीनेशन दर रहने पर निजी चिकित्सालयों को उनकी वैक्सीनेशन सेंटर की मान्यता समाप्त करने की चेतावनी दी. नेहरा ने कहा की वर्तमान में जिले में करीब 320 वैक्सीनेशन सेंटर्स बनाए गए हैं. इन सेंटर्स पर 45 वर्ष से अधिक उम्र के 20 लाख से अधिक व्यक्तियों को कोविड का वैक्सीन लगवाया जाना है.

अभी जयपुर जिला वैक्सीनेशन (Rajasthan Corona Update) के मामले में काफी पिछड़ा हुआ है. अगर वर्तमान गति से ही वैक्सीनेशन जारी रहा तो इसमें 6 महीने लगेंगे. यह स्थिति स्वीकार्य नहीं है. कम से कम 80 से 90 हजार लोगों को जिले में रोजाना वैक्सीनेट कराना जरूरी है, तब जाकर लगभग एक माह में यह लक्ष्य हासिल किया जा सकेगा. नेहरा ने कोविड के प्रबन्धन के लिए जिले में बनाए गए पुलिस, जिला प्रशासन, नगर निगम, चिकित्सा एवं अन्य विभागों के अधिकारी इंसीडेंट कमाण्डर्स को निर्देश दिए कि पिछले वर्ष की तरह लॉकडाउन की स्थितियां पैदा नहीं हों इसके लिए उन्हें तत्परता से काम करने की जरूरत है. 

एक छोटे क्षेत्र में 5 या अधिक लोगों के कोरोना पॉजिटिव आने पर माइक्रो कन्टेन्मेंट जोन और कन्टेन्मेंट जोन लागू करवाने, बीट कांस्टेबल,बीएलओ की सहायता से कोविड पॉजिटिव व्यक्ति का होम आईसोलेश करने के निर्देश दिए. नेहरा ने कहा कि मास्क लगाकर ही बाहर निकलने, दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग जैसे कोविड प्रोटोकॉल का बार-बार उल्लंधन करने वाले प्रतिष्ठानों, कोचिंग संस्थानों को सीज किया जाए.

ये भी पढ़ें: Rajasthan News: 1 मार्च से शुरू होगा Corona Vaccination का थर्ड फेज़, रहेगा सबसे ज्यादा चुनौतीपूर्ण