कोटपुतली में फूटा कोरोना बम, 19 जवानों समेत 25 लोग एकसाथ निकले पॉजिटिव

सभी जवानों को दिशा-निर्देश देकर चिकित्सा विभाग की गाइड लाइन पूरी करने के लिए कहा गया है.

कोटपुतली में फूटा कोरोना बम, 19 जवानों समेत 25 लोग एकसाथ निकले पॉजिटिव
सभी जवानों को दिशा-निर्देश देकर चिकित्सा विभाग की गाइडलाइन पूरी करने के लिए कहा गया.

अमित यादव, कोटपुतली: कोविड-19 को लेकर लोग लापरवाह और बेपरवाह होते जा रहे हैं, जिसका नतीजा ग्रामीण क्षेत्र में देखने को मिला. यहां कोरोना के निरन्तर मरीज बढ़ते नजर आ रहे हैं. 

आज कोटपुतली में कोरोना के एक साथ 25 मरीज सामने आए, जिसके बाद शहर सहित आसपास के क्षेत्र में हड़कंप मच गया. कोटपुतली थाने के 19 जवानों सहित कुल 25 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जिसके बाद चिकित्सा विभाग की टीम कोटपुतली थाने पहुंची और सभी जवानों को क्वारंटाइन करने के निर्देश दिए गए. 

यह भी पढे़ें- राजस्थान में कोरोना के मिले 362 नए मरीज, एक्टिव मामलों की संख्या हुई 11319

वहीं, पॉजिटिव केसों की जानकारी पाकर पुलिस के आला अधिकारी भी थाने पहुंचे और सभी जवानों को दिशा-निर्देश देकर चिकित्सा विभाग की गाइडलाइन पूरी करने के लिए कहा गया.

कोटपुतली बीसी एम एचओ रामनिवास यादव ने बताया कि पिछले दिनों थाने के जवानों की रेंडम सैंपलिंग ली गई थी, जिसमें से 19 जवान पॉजिटिव पाए गए. इन सभी को लालचन्द मोरिजावाला धर्मशाला में शिफ्ट किया जाएगा, जहां पर क्वारंटाइन सेंटर बना रखा है.

कोटपुतली थाने में एक साथ आए कोरोना पॉजिटिव 19 जवानों की खैर खबर के लिए पुलिस के आला अधिकारी भी थाने पर पहुंचे और कहा पुलिस शुरू से ही कोरोना काल में अपनी ड्यूटी निभाती आ रही है. आज थाने के 19 जवान एक साथ पॉजिटिव आए हैं. चिंता की बात तो है ही लेकिन इससे घबराने की बात नहीं है. सही गाइडलाइन समय से सही इलाज हो तो सब ठीक हो जाएगा. 

वहीं, इस स्थिति में भी पुलिस का काम किसी भी प्रकार से नहीं रुकेगा. जयपुर लाइन से अतिरिक्त जाब्ता बुलवा कर काम को निरन्तर जारी रखा जाएगा, वहीं, एएसपी रामकुवार कस्वा ने आम जनता से भी अपील की सरकार की गाइड लाइन की पूरी पालना करें, जिससे कोविड-19 पर सही तरीके से काबू पाया जा सके.

जिस तरह से ग्रामीण क्षेत्र में -19 को लेकर लापरवाही बरती जा रही है, उसको देखते हुए वो दिन दूर नहीं है, जब हालात और भी बद से बदतर नजर आते दिखाई देंगे. समय रहते अगर गाइड लाइन की पूरी पालना की जाए तो आगे अभी भी बहुत बचाव सम्भव है.