कोटा में 'आउट ऑफ कंट्रोल' हुआ कोरोना, 1 दिन में रिकॉर्ड 168 नए पॉजिटिव मामले

कोटा में संक्रमितों का दि-ब-दिन बढ़ता जा रहा है. वायरस की चपेट में परिवार के सदस्य भी आ रहे हैं. 

कोटा में 'आउट ऑफ कंट्रोल' हुआ कोरोना, 1 दिन में रिकॉर्ड 168 नए पॉजिटिव मामले
बीते 24 घंटों की बात करें तो 24 घंटों में 221 कोरोना संक्रमित केस सामने आए हैं.

मुकेश सोनी, कोटा: जिले में कोरोना वायरस आउट ऑफ कंट्रोल हो चुका है. खासकर अनलॉक 2 के अंतिम दिनों में कोटा में कोरोना का विस्फोट देखने को मिल रहा है. शहर की हर कॉलोनियों से संक्रमित केस सामने आ रहे हैं. 

गुरुवार को तो एक ही दिन में रिकॉर्ड 168 पॉजिटिव केस सामने आए. इससे पहले 25 जुलाई को एक ही दिन में रिकॉर्ड 123 लोग कोरोना संक्रमित मिले थे. इन्हें मिलाकर कोटा में संक्रमितों का आंकड़ा एक ही दिन में 1489 से बढ़कर 1657 पहुंच गया है.

पॉजिटिव की संख्या बढ़ने से जिला प्रशासन और चिकित्सा प्रशासन में हड़कम्प मच हुआ है. चिकित्सा विभाग की टीमें संक्रमित इलाकों से लगातार सैंपलिंग के कार्य में जुटी हुई है.

30 दिन में 988 केस
कोटा में अनलॉक 1 तक यानी 30 जून तक 669 केस रिपोर्ट हुए थे. अनलॉक 2 के 30 दिन में 988 केस बढ़कर 1657 तक पहुंच गए. इस दौरान शहर के हर इलाको से कोरोना संक्रमित सामने आए. कोटा की तीन दर्जन से ज्यादा कॉलोनियों में कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है. सेंट्रल जेल, महावीर नगर, विज्ञाननगर इलाका नया हॉट स्पॉट बन गया है.

बीते 24 घंटों की बात करें तो 24 घंटों में 221 कोरोना संक्रमित केस सामने आए हैं. संक्रमितों में हेल्थ वर्कर, पुलिसकर्मी, कैदी, व्यापारी, निजी संस्थान में कार्य करने वाले शामिल हैं.

लापरवाही पड़ ना जाए भारी
कोटा में संक्रमितों का दि-ब-दिन बढ़ता जा रहा है. वायरस की चपेट में परिवार के सदस्य भी आ रहे हैं. चिकित्सा विभाग के अधिकारियों की मानें तो आमजन द्वारा गाइड लाइन की ठीक से पालना नहीं करने के चलते पॉजिटिव केस में इजाफा होना मान रहे हैं. सोशल डिस्टेंन्स और मास्क का उपयोग नहीं करने के कारण संक्रमण बढ़ता जा रहा है.

चेन कैसे टूटे
कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए वायरस की चेन तोड़ना जरूरी है. बढ़ते मामलों के बाद जिला प्रशासन ने रविवार को एक दिन के लॉक डाउन की घोषणा की है. विशेषज्ञों का मानना है यहां चिंता वाली बात यह है कि यदि कोटा में इसी तरह से कोरोना का संक्रमण फैलता रहा तो हालात कंट्रोल से बाहर हो सकते है. समय रहते लोगों को सावधानी बरतनी जरूरी है ताकि कोरोना की चेन को तोड़ा जा सके.