अलवर के इस गांव में कोरोना का मरीज मिलने से मचा हड़कंप, हाई रिस्क जोन घोषित

 अलवर में यह पहला मामला है अब तक 128 जांच रिपोर्ट में 99 की जांच रिपोर्ट आ चुकी है. जिसमे एक रिपोर्ट पोजिटिव आयी है

अलवर के इस गांव में कोरोना का मरीज मिलने से मचा हड़कंप, हाई रिस्क जोन घोषित
गांव में पूरी तरह आवाजाही रोक दी गयी है.

जुगल गांधी/अलवर: राजस्थान के अलवर में भी कोरोना वायरस मामले में बहरोड तहसील के मिलकपुर गांव में एक युवक की रिपोर्ट पोजिटिव आने से प्रशासन सहित पूरे गांव में हड़कंप मच गया है. प्रशासन द्वारा हाई अलर्ट के साथ ही पीड़ित के घर से एक किलोमीटर चारों तरफ हाई रिस्क जोन होने से प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया है. पूरा प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने मोर्चा संभाल लिया है.

बता दें कि, अलवर में यह पहला मामला है अब तक 128 जांच रिपोर्ट में 99 की जांच रिपोर्ट आ चुकी है. जिसमे एक रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. बताया जा रहा है, युवक फिलीपींस में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा था 18 तारीख को अपने दोस्त के साथ भारत लौटा था. इस युवक को आइसोलेशन में रहने की हिदायत दी गयी थी. वहीं, दो दिन पूर्व झुंझनु में जब युवक के दोस्त की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी तो युवक की भी दोबारा जांच की गई जिसमें युवक की सोमवार देर शाम रिपोर्ट निगेटिव आयी. रिपोर्ट पॉजिटिव की खबर पूरे शहर फैलते ही चिंता की लकीरें बढ़ गई. 

अभी पूरे गांव में पूरी तरह आवाजाही रोक दी गयी है. प्रशासनिक व स्वास्थय विभाग की टीम गांव पहुच चुकी है. युवक के परिजनों को भी आइसोलेटेड किया गया है. बताया जा रहा है 18 तारीख को युवक झुंझनु निवासी अपने दोस्त के साथ दिल्ली से टैक्सी से आया था. प्रशासन ने युवक व टेक्सी चालक व पिता को अलवर आइसोलेशन वार्ड में लेकर आई, जहां से युवक को जयपुर ले जाने की बात सामने आई.

वहीं, युवक की बहन और मां को बहरोड आइसोलेशन में रखा गया है. इस खबर के बाद आस पास के क्षेत्र में चिंता बढ़ गयी है. वहीं युवक की मां भी एएनएम है, जो आसपास अपनी ड्यूटी के दौरान काफी लोगों के संपर्क में रही है. अब प्रशासन के लिए पूरे गांव सहित आस पास के लोगों की जांच करनी होगी जो किसी चुनोती से कम नहीं.

साथ ही, युवक की भी लापरवाही की बात सामने आ रही वह भी होम आइसोलेशन पीरियड में बाहर घूमता रहा. अब चिंता सताने लगी है. जहां, अभी तक अलवर में किसी संक्रमित का खाता नहीं खुला था. अब प्रशासन के साथ साथ पूरे अलवर में चिंता की लकीरें साफ दिखाई दे रही है.