Rajasthan: कोरोना के एक दिन में आए रिकॉर्ड मामले, वैक्सीन की कमी पर उठे सवाल

Rajasthan Corona News: राजस्थान में वैक्सीन की कमी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि प्रदेश में 10 अप्रैल की सुबह तक सिर्फ 5 लाख 55 हजार 882 वैक्सीन डोज बची हुई थीं.

Rajasthan: कोरोना के एक दिन में आए रिकॉर्ड मामले, वैक्सीन की कमी पर उठे सवाल
राजस्थान में वैक्सीन लगभग खत्म हो गई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Jaipur: राजस्थान में बढ़ते कोरोना की रफ्तार ने फिर से रिकॉर्ड तोड़ दिया है. प्रदेश में 24 घंटे के अंदर 4 हजार 401 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं, जबकि राजधानी जयपुर में शनिवार को 657 मरीज आए हैं. हालांकि, राजधानी जयपुर में कोरोना संक्रमितों के आकड़े में कमी आई है, शुक्रवार को राजधानी में कोरोना मरीजों की संख्या 767 थी. जो प्रदेश में कोरोना रोकने के लिए उठाए जा रहे कदमों के सकारात्मक असर का सीधा प्रमाण है.

राज्य सरकार की कोशिशों के बाद भी कोरोना कुछ लोगों की लापरवाही के कारण और कुछ केंद्र सरकार द्वारा वक्त पर और पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन पहुंचाने में देरी होने के कारण फेल रहा है. दरअसल, केंद्र सरकार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने शुक्रवार को ही एक चिट्ठी लिखी थी जिसमें उन्होंने कहा कि प्रदेश में सिर्फ दो दिन के लिए ही कोरोना वैक्सीन बची है. लेकिन शनिवार पूरा दिन बीत जाने के बाद भी सिवाय कोटा सांसद और स्पीकर ओम बिरला के बयान के, कोई प्रभावी कदम नहीं उठाया जा सका है.

ये भी पढ़ें-Rajasthan में Covid Vaccine की कमी, वैक्सीनेशन सेंटर से खाली हाथ लौट रहे लोग

 

राजस्थान में वैक्सीन की कमी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि प्रदेश में 10 अप्रैल की सुबह तक सिर्फ 5 लाख 55 हजार 882 वैक्सीन डोज बची हुई थीं. ऐसे में आप ये जरूर ध्यान रखें कि राज्य में कोरोना वैक्सिनेशन बेहद संजीदगी से और बेहद तेजी से किया जा रहा है.

सरकार के आकड़ों की मानें तो राजस्थान में रोजाना करीब 5 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जाती है. ऐसे में शनिवार सुबह तक बची करीब साढ़े पांच हजार वैक्सीन आज के वैक्सिनेशन के बाद अगर खत्म हुई मान लें तो रविवार से राजस्थान में वैक्सिनेशन सेंटर्स पर पात्र लोगों को कोरोना वैक्सीन नहीं लगाई जा सकेगी. 

ये भी पढ़ें-Corona Guideline नहीं मानने पर सरकार को मजबूरी में उठाने पड़ेंगे सख्त कदम: गहलोत

स्वास्थ्य विभाग ने पहले ही केंद्र को जानकारी दे दी थी कि वक्त पर कोरोना वैक्सीन नहीं मिलने पर रविवार से प्रदेश में 90 फीसदी से ज्यादा सेंटर पर वैक्सीन नहीं लग सकेगी. आंकड़ों पर नजर डालें तो अब तक प्रदेश में 1 करोड़ 5 लाख 15 हजार 680 वैक्सीन पहुंची हैं, जिसमें 95 लाख 76 हजार 729 लाभार्थियों को वैक्सीन लगाई भी जा चुकी है, जबकि 3 लाख 83 हजार 69 वैक्सीन की डोज बर्बाद हो गई है. जबकि 4 लाख 99 हजार 446 लाभार्थियों को औसतन हर दिन लग वैक्सीन लगाई जा रही है.

Satendra Yadav, News Desk