जयपुर: मंत्री प्रतापसिंह से मिला रोडवेज कर्मचारी यूनियन, रखी भ्रष्ट्राचार खत्म करने की मांग

चीफ मैनेजर द्वारा कर्मचारियों द्वारा चौथ वसूली करना ही घाटे का कारण बन रहा है.

जयपुर: मंत्री प्रतापसिंह से मिला रोडवेज कर्मचारी यूनियन, रखी भ्रष्ट्राचार खत्म करने की मांग
रोडवेज में मासिक वेतन भी समय पर कर्मचारियों को नहीं मिल रहा है.

दामोदर प्रसाद, जयपुर: राजस्थान रोडवेज के कर्मचारी यूनियन अधिकारियों के मूलभूत शाखा से अन्य शाखा पर लगाने पर बड़े सवाल उठ रहे हैं. हाल ही में कर्मचारी यूनियन ने परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास से मिलकर रोडवेज में अधिकारियों को मूलभूत शाखा में लगाने और रोडवेज की व्यवस्था सुधारने की मांग की है, जिससे रोडवेज में भ्रष्ट्राचार का बोलबाला खत्म हो और घाटे से उभर सके. कर्मचारी यूनियन के सुझाव पर परिवहन मंत्री ने आश्वासन दिया कि जल्द ही रोडवेज की व्यवस्था सुधारी जाएगी.

रोडवेज कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारी देवकरण चौधरी ने बताया कि आज रोडवेज घाटे का सौदा क्यों हो रही है, इसका मूल कारण है कि बस डिपो, बस स्टैंडों पर चीफ मैनेजरों को मैन पावर देने से रोडवेज में भ्रष्ट्राचार का बोलबाला पनप गया. इससे रोडवेज घाटे की ओर जाने लगी. चीफ मैनेजर द्वारा कर्मचारियों द्वारा चौथ वसूली करना ही घाटे का कारण बन रहा है. जब कर्मचारी अधिकारी को वसूली देगा तो वे रोडवेज बसों से चोरी करके ही आगे वसूली देगा, जिसका कारण रोडवेज घाटे की ओर बढ़ती गई. 

आज रोडवेज में मासिक वेतन भी समय पर कर्मचारियों को नहीं मिल रहा है. सेवानिवृत कर्मचारियों को कई सालों से बकाया परिलाभ नहीं मिल पा रहा है, जिसके लिए कर्मचारियों को कई बार सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने पड़ रहे हैं. इसके लिए परिवहन मंत्री से मिलकर कर्मचारी यूनियन ने चीफ मैनेजर के पावकर खत्म कर व्यवस्था सुधार की मांग की, जिससे रोडवेज घाटे से उभर सके और रोडवेज को मुख्य धारा से जोड़ा जाए.

परिवहन मंत्री ने दिया आश्वसान
इसके लिए परिवहन मंत्री ने कर्मचारी यूनियन को आश्वासन दिया है कि जल्द ही निगम बोर्ड में मामला उठाया जाएगा, जिसमें नीतिगत निर्णय लेकर रोडवेज में सुधार किया जाएगा.