सीकर: छात्रसंघ चुनाव में छात्रों पर लाठीचार्ज को लेकर माकपा ने किया बंद का आह्वान

माकपा का आरोप है कि घटना के 11 दिन बीत जाने के बाद भी राज्य सरकार ने उनकी मांगें पूरी नहीं की है. माकपा ने दोषी अधिकारियों को हटाने एवं पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की थी.

सीकर: छात्रसंघ चुनाव में छात्रों पर लाठीचार्ज को लेकर माकपा ने किया बंद का आह्वान
बंद को देखते हुए यातायात व्यवस्था में भी आज बदलाव किया गया है.

सीकर: राजस्थान के सीकर में छात्रसंघ चुनाव के दौरान मतगणना में हुई धांधली के विरोध में प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज के विरोध में माकपा ने सोमवार को सीकर बंद का आह्वान किया है. वहीं सीकर बंद को देखते हुए जिला पुलिस प्रशासन ने धारा 144 लगाई है. माकपा ने सीकर बंद चक्का जाम की घोषणा कर रखी है. बंद के दौरान स्कूल कॉलेज पेट्रोल पंप अस्पताल एंबुलेंस और मेडिकल स्टोर को बंद से मुक्त रखा गया है. 

माकपा का आरोप है कि घटना के 11 दिन बीत जाने के बाद भी राज्य सरकार ने उनकी मांगें पूरी नहीं की है. माकपा ने दोषी अधिकारियों को हटाने एवं पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की थी. बंद को देखते हुए यातायात व्यवस्था में भी आज बदलाव किया गया है. वहीं जिले भर में करीब 100 से ऊपर स्थानों पर जाम रहेगा.

माकपा का कहना है कि सीकर जयपुर सड़क मार्ग को पूरी तरह से बंद किया जाएगा. चक्का जाम को देखते हुए जिला प्रशासन ने तीन आरएसी 1 एसटीएफ कंपनी सहित करीब 25 सौ पुलिसकर्मियों का जाब्ता तैनात किया है. कई संगठनो बंद का समर्थन किया है. जबकि कई संगठनों ने मिलीजुली प्रतिक्रिया दी है. हालांकि प्रशासन का ऐसा अनुमान है कि सीकर जिला चक्का जाम और बंद के आह्वान के चलते डिस्टर्ब रहेगा.

गौरलतब है कि राजस्थान विश्वविद्यालय में लगातार चौथे साल एक बार फिर से निर्दलीय ने राजस्थान यूनिवर्सिटी में जीत का परचम लहराया. राजस्थान विश्वविद्यालय ने पहली बार लगातार चौथे साल एक बार फिर से निर्दलीय उम्मीदवार को अपना 37वां अध्यक्ष चुनाकर इतिहास रच दिया. एनएसयूआई से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ने वाली पूजा वर्मा ने एनएसयूआई के उत्तम चौधरी को 676 मतों से हराया. पूजा वर्मा को कुल 3890 वोट मिले. 

वहीं इससे पहले वर्ष 2018 में विनोद जाखड़, 2017 में निर्दलीय पवन यादव तथा 2016 में अंकित धायल ने निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में अध्यक्ष चुने गए थे. साथ ही कैंपस के तीनों उम्मीदवारों की बात करें तो पूजा को 3890 मत मिले जबकि उत्तम चौधरी को 3214 तथा एबीवीपी के अमित बड़बड़वाल को 2975 मत मिले. इसी तरह उपाध्यक्ष पद पर एनएसयूआई की प्रियंका मीणा तथा महासचिव पद पर एनएसयूआई के महावीर गुर्जर विजयी हुए. वहीं संयुक्त सचिव पद पर एबीवीपी की किरण मीणा ने जीत हासिल की.