close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान के शाहपुरा कस्बे में रहा गमगीन माहौल, 8 लोगों का एक साथ हुआ दाह संस्कार

राजस्थान के राजसमंद जिले में एक सड़क दुर्घटना में भीलवाड़ा के शाहपुरा कस्बे के 8 लोगों का शनिवार को दाह-संस्कार किया गया.

राजस्थान के शाहपुरा कस्बे में रहा गमगीन माहौल, 8 लोगों का एक साथ हुआ दाह संस्कार
अंतिम संस्कार के दौरान मौजूद भीड़. (फाइल फोटो)

भीलवाड़ा: जिले के शाहपुरा कस्बे निवासी दो परिवारों के 8 लोगों का शनिवार को गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार किया गया. इन सभी लोगों की मौत शुक्रवार को नाकोड़ा भैरवनाथ जाते समय राजसमंद की देसूरी नाल में दुर्घटना से हुई थी. शनिवार को पूरे कस्बे में मातम का माहौल था. घटना की जानकारी के बाद बाजार व निजी शिक्षण संस्थाएं भी बन्द रहे. 

अंतिम यात्रा में स्थानीय लोगों की काफी भीड़ रही. इस दौरान भीलवाड़ा के सांसद सुभाष बहेडिया भी मौजूद थे. उन्होंने मृतकों के परिजनों से मुलाकात कर सांत्वना दी.

दर्शन करके लौट रहा था परिवार
शाहपुरा के दिलखुशाल बाग में रहने वाले मुकेश अग्रवाल अपनी पत्नि ममता, पुत्र यश और दर्शिल के साथ ही कोठार मोहल्ला निवासी शिक्षक पंकज जैन अपनी पत्नि संगीता जैन, पुत्री अनंदा, अन्यया ईको वैन में सवार होकर नाकोड़ा स्थित पार्श्वनाथ जैन मन्दिर के लिए शुक्रवार सुबह रवाना हुए. ईको वैन मध्यप्रदेश में नीमच जिले के बांसी बोहडा ग्राम निवासी जयंत अग्रवाल चला रहा था. इस दौरान राजसमंद जिले में स्थित गढबोर चारभुजा दर्शन के बाद दोपहर में एसिड से भरे टैंकर ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया. 

LIVE TV देखें

टैंकर के नीचे दबने से हुई मौत
इस दौरान गाडी में सवार सभी 9 लोगों की टैंकर के नीचे दबने से मौत हो गयी थी. इस हादसे में दोनों परिवार का एक भी सदस्य नहीं बच पाया है.

नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई
शाहपुरा कस्बे के दो परिवारों के 8 जनों को आज नम आंखों से कस्बे वासियों ने अंतिम विदाई दी. इस दौरान शाहपुरा कस्बा पूर्णत: बंद रहा. इस मौके पर वहां सांसद सुभाष बहेडिया, एएसपी अनुकृति उज्जैनिया, एसडीएम महावीर प्रसाद नायक, डिप्टी भंवर सिंह, तहसीलदार अशोक कुमार सोनी, सीआई भजनलाल सहित शाहपुरा के राजनीतिक एवं सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी मौजूद रहे.

नहीं मनाई गई जन्माष्टमी
शाहपुरा कस्बे के लोग कल मंदिरों से लेकर गली-मोहल्लों में जन्माष्टमी की तैयारियों में लगे थे. दोपहर बाद जब दर्दनाक हादसे में नौ लोगों की मौत की खबर ने कस्बे के बाशिंदों को झकझोर कर रख दिया. इसके बाद कई जगह जन्माष्टमी के कार्यक्रम रद्द कर दिये गये. आज उनके शवों का अंतिम संस्कार किया गया. एक साथ जब 8 अर्थियां उठी तो हर किसी की आंख से आंसू छलक पड़े. 

इस हादसे में शाहपुरा के व्यवसायी मुकेश अग्रवाल (40), उसकी पत्नी ममता, पुत्र यश (10) व दर्शिल (5) के अलावा शिक्षक पंकज जैन (40), उसकी पत्नी संगीता, पुत्री अवन्या (15) व आनंदा (12) भी कार में सवार थे. आठों के शव विगत मध्य रात्रि में शाहपुरा पहुंचे. इसके अलावा हादसे में मुकेश अग्रवाल के साढू का पुत्र नीमच निवासी जयंत अग्रवाल (18) भी था. जिसका शव नीमच ले जाया गया है. 

हादसे पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, विस अध्यक्ष डा. सीपी जोशी, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, पूर्व विस अध्यक्ष कैलाश मेघवाल, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट, पूर्व मंत्री किरण माहेश्वरी ने दुख प्रकट किया है.