बदमाशों की तलाश करने निकली पुलिस पर अपराधियों ने बरसाई गोलियां, दो की मौत

पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा के अनुसार प्राप्त सूचना पर एक पुलिस दल बदमाश अजय चौधरी और उसके कुछ साथियों की तलाश कर रहे थे

बदमाशों की तलाश करने निकली पुलिस पर अपराधियों ने बरसाई गोलियां, दो की मौत
पुलिस ने सीकर जिला सहित झुंझुनू और चूरू जिलों के आसपास के इलाकों में नाकाबंदी कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है.

सीकर: प्रदेश के सीकर जिले के फतेहपुर कोतवाली थाना क्षेत्र के बेसवा गांव के पास शनिवार देर रात को बदमाशों ने फतेहपुर थाना अधिकारी मुकेश कानूनगो व कॉन्स्टेबल राम प्रकाश को गोली मार दी. दोनों की मौत पर ही हो गई.

पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा ने रविवार को बताया कि प्राप्त सूचना पर एक पुलिस दल बदमाश अजय चौधरी और उसके कुछ साथियों की तलाश कर रहे थे. इसी दौरान बेसवा के पास एक बोलेरो में सवार चौधरी और उसके चार अन्य साथियों ने थानाधिकारी मुकेश कानूनगो और कॉन्स्टेबल रामप्रकाश को गोली मार दी. दोनों की मौके पर ही मौत हो गई.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉक्टर तेजपाल सिंह ने बताया कि सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने सीकर जिला सहित झुंझुनू और चूरू जिलों के आसपास के इलाकों में नाकाबंदी कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है.

पुलिस ने मामले की छानबीन करते हुए आसपास के इलाके में भी स्थानीए लोगों से पूछताछ की. लेकिन अभी तक थानाधिकारी मुकेश कानूनगो और कॉन्स्टेबल रामप्रकाश की हत्या के मामले में पुलिस को कई भी सुराग हाथ नहीं लग पाया है. हालांकि पुलिस इस मामले में अजय चौधरी और उसके साथियों की तालाश में जुटी है. पुलिस की मानें तो वह जल्द ही अजय चौधरी और उसके साथियों को गिरफ्तार कर लेगी. 

हालांकि पुलिस अभी तक इस मामाले में कुछ भी खुलकर बोलने को तैयार नहीं हैं. पुलिस ने बताया कि थानाधिकारी मुकेश कानूनगो और कॉन्स्टेबल रामप्रकाश के शवों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है. वहीं दूसरी ओर थानाधिकारी मुकेश कानूनगो और कॉन्स्टेबल रामप्रकाश की हत्या के बाद उनका परिवार सदमें है. उनकी मांग है कि जल्द ही उनके हत्यारों को जाए और ताकि थानाधिकारी मुकेश कानूनगो और कॉन्स्टेबल रामप्रकाश को इंसाफ मिल सके. 

खबरों के मुताबिक पोस्टमार्टम के बाद कांस्टेबल रामप्रकाश और थानाधिकारी मुकेश कानूनगो की पार्थिव देह उनके पैतृक गांव ले जाया जाएगा. फिलहाल पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी अस्पताल में ही मौजूद हैं. खबरों के अनुसार उन्हें अस्पताल में ही गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा.  

(इनपुट-भाषा)