दौसा: बोरवेल में नहीं, प्यार में कैद थी युवती

दौसा में लालसोट उपखंड के अनूपपुरा गांव में एक अनोखा मामला सामने आया.  

दौसा: बोरवेल में नहीं, प्यार में कैद थी युवती
अधिकारियों ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया

दौसा: जिले में लालसोट उपखंड के अनूपपुरा गांव में एक अनोखा मामला सामने आया. यहां एक 18 साल की युवती ने खुद के गायब होने की ऐसी कहानी गढ़ी, जिसके चलते  पुलिस और प्रशासन को 10 घंटे तक मशक्कत करनी पड़ी. काफी कोशिश के बाद पुलिस ने युवती को जयपुर से ढूंढ निकाला.

दरअसल युवती के परिजनों ने प्रशासन को सूचना दी थी कि उनकी बेटी बोरवेल में गिर गई है ओर उसके कपड़े और एक खत बोरवेल के पास मिला है. इसके बाद मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया और बोरवेल की खुदाई का काम करने के लिए पांच जेसीबी समेत कई मशीनों मौके पर बुलाई गई.

शुक्रवार दोपहर 12:00 बजे शुरू हुआ खुदाई का काम रात 9:00 बजे तक चलता रहा, लेकिन इसी बीच पुलिस को इस तरह के इनपुट मिल रहे थे कि युवती गायब होने की कहानी भी रच सकती है. इसी के आधार पर पुलिस ने दूसरे एंगल पर भी काम करने शुरू कर दिया.

शनिवार रात 9:00 बजे युवती के एक मित्र की लोकेशन जयपुर में आ रही थी. इसी आधार पर पुलिस ने एक टीम जयपुर रवाना की. काफी मशक्कत के बाद युवती और उसके प्रेमी को जयपुर के प्रताप नगर थाना इलाके से दस्तयाब कर लिया गया. इसके बाद तुरंत खुदाई के काम को रोक दिया गया. अब प्रशासन युवती और उसके परिजनों पर गुमराह करने को लेकर कार्रवाई की बात भी कर रहा है. 

पत्र मिला था अब मैं नहीं मिलूंगी 
बोरबेल के पास से जो पत्र बरामद हुआ उसमें युवती ने लिखा था कि वह अब नहीं मिलेंगी. घटना शुक्रवार सुबह करीब 7 बजे की थी. खेत में चल रहे बोरिंग के कारणों की तलाश करने के लिए परिवार के लोग जब खेत में पहुंचे तो कच्चा अनुपयोगी बोरवेल जो पत्थर से ढका हुआ था, उस पर से पत्थर हटा हुआ मिला. पास में ही युवती के कपड़े पड़े हुए मिले. इसके आधार पर परिजनों ने युवती को बोरवेल में गिर जाने का अंदेशा जताया.