Dausa: SI सीमा शर्मा की मौत मामले में 20 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली, परिजन बोले

Dausa Samachar: 20 दिन बाद भी पुलिस उस वाहन को नहीं तलाश पाई जिसने सीमा शर्मा को मौत के घाट उतार दिया था. पुलिस की इस ढिलाई से परिजनों का संदेह और बढ़ता जा रहा है.  

Dausa: SI सीमा शर्मा की मौत मामले में 20 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली, परिजन बोले
20 दिन बाद भी सीमा शर्मा केस में पुलिस के हाथ खाली. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Dausa: दौसा में पुलिस से इंसाफ मांगने वालों की फेहरिस्त बढ़ रही है. इस फेहरिस्त में पुलिस की SI सीमा शर्मा के परिजन भी शामिल है, जो बीते 20 दिन में दो बार पुलिस के दरवाजे पर दस्तक दे चुके हैं कि हमें इतना तो बताएं कि आखिर एक सब इंस्पेक्टर को मौत के घाट उतारने वाला वाहन कौन सा है.

दरअसल, 20 दिन बाद भी पुलिस उस वाहन को नहीं तलाश पाई जिसने सीमा शर्मा को मौत के घाट उतार दिया था. पुलिस की इस ढिलाई से परिजनों का संदेह और बढ़ता जा रहा है कि ये हादसा ही मात्र था या फिर कोई और वजह थी सीमा शर्मा की मौत की. दौसा कोतवाली में नौकरी करने वाली एसआई सीमा शर्मा के परिजन दो बार एसपी कार्यालय पहुंचकर SP-Addl.SP से मिले मिल चुके हैं.

बता दें कि दौसा कोतवाली थाने में उप निरीक्षक के पद पर तैनात सीमा शर्मा की Jaipur-Agra Bypass पर पुलिस लाइन चौराहे के समीप 16 जनवरी को सायंकाल सात बजे के करीब अज्ञात वाहन से दुर्घटना होने की बात सामने आई थी. इस दौरान उनके पति धर्मेंद्र शर्मा भी सीमा शर्मा के साथ बताए जा रहे हैं और पति ही मौके से सीमा शर्मा को उठाकर जिला अस्पताल लेकर पहुंचे थे, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद सीमा शर्मा को जयपुर रेफर कर दिया गया था.

यहां पति धमेंद्र ने सीमा शर्मा को उपचार के लिए जयपुर लेकर पहुंचे थे, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद एसआई सीमा शर्मा को मृत घोषित कर दिया था. पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया था, जिसका पुलिस सम्मान के साथ उनके ससुराल मधेपुरा गांव में अंतिम संस्कार किया गया था. सीमा शर्मा के पियर पक्ष द्वारा इस हादसे को साजिश करार दिया जा रहा है.

वहीं, सीमा शर्मा के परिजनों का कहना है कि हादसे के 20 दिन बाद भी पुलिस यह पता नहीं लगा पाई कि सीमा की किस वाहन से दुर्घटना हुई थी और उस दौरान वहां कौन-कौन लोग मौजूद थे. परिजनों का कहना है कि सीमा शर्मा के पति धर्मेंद्र शर्मा भी बार-बार अपने बयान बदल रहे हैं. इससे कहीं ना कहीं संदेह और गहरा होता जा रहा है.

सीमा की मां सरोज शर्मा पुलिस अधिकारियों से न्याय की गुहार लगा रही है. सीमा की मां सरोज का कहना है कि आखिर पुलिस सीमा की मौत का सच क्यों नहीं उजागर कर रही है. जबकि सीमा के भाई विकास का कहना है मान लिया सीमा की मौत एक सड़क हादसा है तो फिर पुलिस उस वाहन को क्यों नहीं पकड़ रही है, जिससे बहन सीमा शर्मा की मौत हुई है. सीमा की मौत के बाद से परिजनों की आंखें रो-रोकर पथरीली हो चुकी है. लेकिन उनके आंसू देखकर भी दौसा पुलिस नहीं पसीज रही.

वहीं, सीमा की मौत के प्रकरण को लेकर जब दौसा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह चौहान से बात की तो उनका कहना है सीमा की मौत एक सड़क हादसा थी, फिर भी परिजनों की मांग पर पुलिस हर एंगल से मामले की जांच में जुटी हुई है. वहीं, यह भी पता लगाने का प्रयास कर रही है कि वह वाहन कौन सा था जिससे सीमा की सड़क दुर्घटना में मौत हुई थी.

(इनपुट-लक्ष्मी अवतार शर्मा)