close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दौसा: जिला कलेक्टर ने राजकीय अस्पताल का किया औचक निरीक्षण, सुविधाओं को लेकर दिया निर्देश

अस्पताल में हालात सुधरे या नहीं जिला कलेक्टर को अस्पताल में पहले के बजाय आज काफी व्यवस्थाएं दुरुस्त मिली. 

दौसा: जिला कलेक्टर ने राजकीय अस्पताल का किया औचक निरीक्षण, सुविधाओं को लेकर दिया निर्देश

दौसा: जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी शनिवार को राजकीय जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण करने पहुंचे तो अस्पताल में हड़कंप सा मच गया. जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने कहा, पिछले दिनों एनएचएम के निदेशक डॉ. समित शर्मा ने दौसा जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया था .उनके निरीक्षण के दौरान यहां ढेरो खामियां मिली थी तो लेबर रूम में प्रसूताओं के परिजनों से पैसे लेने की बात भी सामने आई थी. जिस पर समित शर्मा द्वारा सात नर्सिंग कर्मियों को सस्पेंड भी किया गया था. 

उसी के चलते आज जिला कलेक्टर ने अस्पताल का निरीक्षण किया. अस्पताल में हालात सुधरे या नहीं जिला कलेक्टर को अस्पताल में पहले के बजाय आज काफी व्यवस्थाएं दुरुस्त मिली. हालांकि, गंदगी और सोनोग्राफी की समस्या उनके सामने आई. कलेक्टर ने पीएमओ को निर्देश दिए हैं कि अस्पताल को पूरी तरह से स्वच्छ रखा जाए. साथ ही आपातकालीन मरीजों की सोनोग्राफी पहले की जाए और पेयजल व्यवस्था को दुरुस्त किया जाए.  

इसके लिए पानी की व्यवस्था भी सुचारू रहे. वहीं मोर्चरी में रखे डी फ्रिज की कूलिंग कम होने के चलते दूसरे की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं. अस्पताल में आने वाले मरीजों को सुविधा मिले और उनका इलाज सुचारू हो. वहीं कलेक्टर को शिकायत मिली थी कि इमरजेंसी में आने वाले कई मरीजों को बेवजह ही जयपुर रेफर कर दिया जाता है. इस पर कलेक्टर द्वारा पीएमओ से पिछले छह माह में रेफर किए मरीजों की लिखित में रिपोर्ट मांगी है और उन को रेफर करने की वजह का कारण भी कलेक्टर ने मांगा है.

पीएमओ को निर्देश दिए हैं कि वह रेफर मामले की बारीकी से जांच करे और यह पता किया जाए कि क्या वास्तव में ही उस मरीज को जयपुर रैफर करना आवश्यक था. वहीं मातृ एवं शिशु चिकित्सालय में भी इलाज में लापरवाही के चलते प्रसूताओं की मौत की बात भी कलेक्टर के सामने आई है. इस पर कलेक्टर ने इसकी भी जांच कर रिपोर्ट देने के पीएमओ को निर्देश दिए हैं.