अलवर: गरीबों के हक पर डीलर ने मारा 'डाका', राशन को तरसे ग्रामीणों ने की शिकायत

गांव पदमाड़ा खुर्द व पदमाड़ा कलां के ग्रामीणों ने, उप जिला कलेक्टर अभिषेक खन्ना को अप्रैल महीने में राशन वितरित नहीं होने की शिकायत की थी. 

अलवर: गरीबों के हक पर डीलर ने मारा 'डाका', राशन को तरसे ग्रामीणों ने की शिकायत
राशन डीलर ने राशन का गेहूं, आगे से नहीं आने का हवाला देकर वितरित ही नहीं किया.

जुगल गांधी/अलवर: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते लॉकडाउन (Lockdown) होने पर केंद्र और राज्य सरकार ने आमजन के लिए फ्री राशन की व्यवस्था लागू की है. लेकिन पदमाड़ा खुर्द के राशन डीलर राजकमल ने, आमजन को राशन वितरित ही नहीं किया.

मुण्डावर उपखंड की माजरी खोला पंचायत के गांव पदमाड़ा खुर्द व पदमाड़ा कलां के ग्रामीणों ने, उप जिला कलेक्टर अभिषेक खन्ना को अप्रैल महीने में राशन वितरित नहीं होने की शिकायत की थी. राशन डीलर ने राशन का गेहूं, आगे से नहीं आने का हवाला देकर वितरित ही नहीं किया. इससे लॉकडाउन में आमजन के लिए गेहूं का संकट खड़ा हो गया.
 
वहीं, ग्रामीणों की शिकायत पर मुण्डावर के नायब तहसीलदार अविनाश एवं विवेक कटारिया मौके पर पहुंचकर, मामले की जानकारी ली. अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर रिकॉर्ड को कब्जे में लेकर, स्टॉक जांच की. इस दौरान, अधिकारियों ने ग्रामीणों की शिकायत सही पाई जाने और राशन नहीं मिलने वालों की लिस्ट तैयार करा, राशन भेजवाने के निर्देश दिए.

इस दौरान, पटवारी राजेन्द्र चौधरी, सचिव लोकेश यादव ने करीब 18 राशनकार्डों की जांच की. तहसीलदार सूर्यकांत शर्मा ने कहा कि, ग्रामीणों की शिकायत की जांच की जा रही है. जांच में दोषी पाए जाने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. बता दें कि, लॉकडाउन के मद्देनजर सरकार ने राशन डीलरों से लोगों को सही से राशन का वितरण करने को कहा है. लेकिन, इसके बावजूद कई जगहों पर कालाबाजारी की जा रही है. ऐसे मामलों में पुलिस-प्रशासन इन लोगों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई कर रहा है.