close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान विधानसभा में फिर उठा नए जिलों का मुद्दा, की गई गठन की मांग

गुरुवार को प्रश्नकाल में बाड़मेर के बालोतरा से आने वाले विधायक मदन प्रजापत ने यह मांग उठाई और सरकार से मांग की ल सालों से चली आ रही क्षेत्र की जनता की इस मांग को पूरा किया जाए. 

राजस्थान विधानसभा में फिर उठा नए जिलों का मुद्दा, की गई गठन की मांग
जनवरी 2014 को नए जिलों के गठन के लिए एक समिति का गठन हुआ था

जयपुर: राजस्थान विधानसभा में हर बार की तरह इस बार भी नए जिलों के गठन की मांग आखिरकार उठ की गई. गुरुवार को प्रश्नकाल में बाड़मेर के बालोतरा से आने वाले विधायक मदन प्रजापत ने यह मांग उठाई और सरकार से मांग की ल सालों से चली आ रही क्षेत्र की जनता की इस मांग को पूरा किया जाए. इसके जवाब में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने कहा जनवरी 2014 को नए जिलों के गठन के लिए एक समिति का गठन हुआ था और 2018 में एक रिपोर्ट भी तत्कालीन सरकार को मिली थी. 

मंत्री ने यह भी कहा कि मौजूदा स्थिति में सरकार के पास कमेटी की ओर से नवीन जिला बनाने का कोई प्रस्ताव नहीं है. इस पर मदन प्रजापत ने कहा इस तरह का सवाल तो पिछले कई सालों से सुनते आ रहे हैं. केवल आप तो इतना बता दें कि नए जिले सरकार बनाएगी या फिर नहीं. प्रजापत के अनुसार बाड़मेर कितना बड़ा जिला है कि उसके 5 जिले बनाए जा सकते हैं.

मंत्री हरीश चौधरी ने इस दौरान यह भी कहा कि अब तक समिति ने सरकार को कोई रिपोर्ट नहीं दी है, लेकिन मैं नियम और कानून के तहत मंत्री पद पर रहते हुए कुछ सीमाओं में बंधा हुआ हूं इसलिए मेरे खुद के चाहने से कुछ नहीं होता. चौधरी ने विश्वास दिलाया जैसे ही इस संबंध में कोई प्रस्ताव समिति की ओर से आता है तो उसका गुण अवगुण के आधार पर निर्णय किया जाएगा.

बहरहाल विधानसभा में समय-समय पर विधायक नए जिलों के गठन की मांग उठाते आए हैं लेकिन ना तो पिछली वसुंधरा राजे सरकार और ना ही मौजूदा सरकार ने अब तक इन मांगों पर कोई निर्णय ले पाई. इसका एक बड़ा कारण नए जिले के गठन में लगने वाले संसाधन और बड़ा खर्चा है.