राजस्थान: प्रियंका के बयान के बाद तेज हुई संविदा प्रथा खत्म करने की मांग, कंप्यूटर शिक्षक बोले...

राज्य के सरकारी स्कूलों में लंबे समय से करीब 5 हजार संविदा शिक्षक काम कर रहे थे. लेकिन बीजेपी सरकार ने इनको हटाने के आदेश दिए थे. जिसके बाद से ये दर-दर भटक रहे हैं.  

राजस्थान: प्रियंका के बयान के बाद तेज हुई संविदा प्रथा खत्म करने की मांग, कंप्यूटर शिक्षक बोले...
प्रियंका गांधी के इस बयान के बाद संविदा प्रथा को खत्म करने की मांग तेज हो गई है.

जयपुर: अधिकतर विभागों में अल्पवेतन पर लाखों संविदाकर्मी काम कर रहे हैं और पिछले दिनों कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने एक बयान दिया, जिसमें कहा कि संविदा पर लगे कर्मचारी शोषण का शिकार होते हैं और इस संविदा प्रथा को बंद करना चाहिए.

इसके बाद प्रदेश में विभिन्न विभागों में लगे हुए संविदा कर्मियों ने प्रियंका गांधी के इस बयान का स्वागत करते हुए संविदा प्रथा को खत्म करने की मांग तेज कर दी है. राजस्थान की सरकारी स्कूलों में लंबे समय से करीब 5 हजार संविदा शिक्षक काम कर रहे थे. लेकिन बीजेपी सरकार ने इनको हटाने के आदेश दिए थे. जिसके बाद से करीब 5 सालों से संविदाकर्मी दर-दर भटक रहे हैं.

ऑल राजस्थान कंप्यूटर शिक्षक संघ के प्रतिनिधियों का कहना है कि 'संविदा पर अल्पवेतन में कार्मिकों को लगाया जाता है और इस नियम नहीं होने के चलते उनको कभी भी हटा दिया जाता है. ऐसे में कांग्रेस सरकार को चाहिए की वो संविदाकर्मियों के हितों को सोचते हुए संविदाकर्मियों को नियमित करें.'

इसके साथ ऑल राजस्थान कंप्यूटर शिक्षक संघ के प्रतिनिधियों की मांग है कि बीजेपी सरकार के दौरान जो 5 हजार संविदा कंप्यूटर शिक्षक हटाए थे, उनको आगामी कंप्यूटर शिक्षक भर्ती (Computer Teacher Recuirtment) में वरियता दी जाए, जिससे इन 5 हजार परिवारों को रोजगार का तोहफा मिल सके.