दिन में एक लाख का नकली मावा कराया डिस्ट्रॉय, रात को निकाल ले गए बदमाश

दीपावली पर आमजन को शुद्ध मिठाईयां मिले, इसको लेकर सरकार द्वारा विशेष शुद्ध के लिए युद्ध अभियान शुरू किया है.

दिन में एक लाख का नकली मावा कराया डिस्ट्रॉय, रात को निकाल ले गए बदमाश
एक ट्रावेल्स बस से करीब एक लाख का 800 किलो नकली मावे के 48 टीन बरामद किए.

लक्ष्मण राठौड़, राजसमंद: दीपावली पर आमजन को शुद्ध मिठाईयां मिले, इसको लेकर सरकार द्वारा विशेष शुद्ध के लिए युद्ध अभियान शुरू किया है, मगर जमीनी स्तर पर इसको लेकर अधिकारी शायद गंभीर नहीं है. भीम में एक लाख का नकली मावा पकड़े जाने के बाद भी गंभीर लापरवाही सामने आई है. नकली मावा पकड़े जाने के बाद निस्तारित भी कर दिया और रात को अज्ञात लोग उसे निकालकर ले गए, जिससे नकली मावा पकडऩे से लेकर उसे डिस्ट्रॉय करने और वापस निकाल ले जाने तक के पूरे घटनाक्रम में अफसरों की भूमिका सवालों के घेरे में आ गई है.

ये भी पढ़ें: राजस्थान में फिर से सस्ती हुई शराब, सरकार ने वापस लिया सरचार्ज

राजसमंद जिले के भीम में पुलिस द्वारा एक ट्रावेल्स बस से करीब एक लाख का 800 किलो नकली मावे के 48 टीन बरामद किए. भीम पुलिस की सूचना पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी नरेश कुमार चेजारा, प्रवर्तन निरीक्षक लोकेश जोशी, बाट माप निरीक्षक रामावतार पूनिया मौके पर पहुंचे. प्रारंभिक जांच में मावा अमानक पाया गया और उसके सैंपल संग्रहित कर लिए. फिर भीम में श्मशान घाट के पास भीम थाना पुलिस व ग्राम पंचायत भीम की मदद से जेसीबी से खड्डा खुदवा कर 48 टीन में भरे मावे को डलवाकर निस्तारित करवा दिए. उसके बाद खाद्य सुरक्षा टीम वापस राजसमंद आ गई, मगर दिन ढलने के बाद अज्ञात बदमाश जेसीबी से वापस खड्डा खोद कर नकली मावे के टीन को पिकअप में भरकर फरार हो गए. इससे पुलिस और खाद्य सुरक्षा टीम की पूरी कार्रवाई ही सवालों के घेरे में आ गई है. सवाल उठ रहा है कि क्या नकली मावे का निस्तारण सही तरीके से नहीं किया गया? अथवा पुलिस व प्रशासन की मिलीभगत से मावा निकाला या और कोई कुछ.

इधर, खाद्य सुरक्षा अधिकारी नरेश कुमार चेजारा ने बताया कि उनके पास भी निस्तारित किए मावे के टीन को वापस जेसीबी से निकालकर ले जाने की सूचना मिली, तो तत्काल भीम थाना पुलिस को अवगत करा दिया. उनके द्वारा नियमानुसार ही मावे के डिब्बो को निस्तारित किया गया है। टीन सीलबंद नहीं थे और मावा मिट्टी मे मिल गया. इधर, भीम थाना पुलिस द्वारा बताया गया कि सूचना पर पुलिस दल मौके पर पहुंचा, तो वहां कोई नहीं मिला. इसको लेकर अब पुलिस की भूमिका भी सवालों के घेरे में है.

ये भी पढ़ें: गहलोत-वसुंधरा के गठबंधन को पंचायतीराज चुनाव में बेनकाब करेगी RLP: हनुमान बेनीवाल