लगभग एक लाख राशन कार्डों की आधार सीडिंग कर धौलपुर समूचे प्रदेश में रहा अव्वल

राशन कार्ड सत्यापन अभियान में दोहरे नाम राशनकार्डों, ऐसे सदस्य जिनकी मृत्यु हो चुकी है या विवाह तथा अन्यत्रा पलायन कर चुके हैं, उन्हें विलोपित करने हेतु जिला स्तर तथा ब्लॉक स्तर पर अलग-अलग टीम बनाकर चिन्हीकरण का कार्य किया जा रहा है.

लगभग एक लाख राशन कार्डों की आधार सीडिंग कर धौलपुर समूचे प्रदेश में रहा अव्वल
जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल.

भानू शर्मा, धौलपुर: वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना के तहत खाद्य सुरक्षा योजना (Food security scheme) में जिले में पात्रा लाभार्थियों के राशनकार्डों की आधार सीडिंग का कार्य करवाया जा रहा है. इसके अंतर्गत अभी तक 1 लाख राशन कार्ड धारकों का आधार के साथ सीडिंग कार्य पूर्ण करवा कर धौलपुर जिला राज्य में प्रथम स्थान पर काबिज है. 

जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने बताया कि जिले में राशनकार्ड का आधार सीडिंग कार्य उत्तरोत्तर तेजी के साथ करवा कर अभी तक लगभग 1 लाख राशन कार्ड धारकों का आधार सीडिंग का कार्य करवाया जा चुका है. शीघ्र ही पूर्ण आधार सीडिंग कार्य करवा लिया जाएगा.

जिला पूर्व में भी खाद्यान्न वितरण में रह चुका है राज्य में प्रथम
उन्होंने बताया कि जिला पूर्व में भी खाद्य आपूर्ति विभाग के पैरामीटर्स में 98.47 प्रतिशत अंक प्राप्त कर समूचे प्रदेश में अव्वल रहा. वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना के तहत खाद्य सुरक्षा योजना (Food security scheme) में राज्य स्तर पर जारी पैरामीटर्स के आधार पर जिला प्रदेश में अग्रणीय रहा. साथ ही पूर्व में जिले को खाद्यान्न वितरण में प्रथम स्थान मिल चुका है.

दोहरे नाम दर्ज राशन कार्डों का चिन्हीकरण
उन्होंने बताया कि राशन कार्ड सत्यापन अभियान में दोहरे नाम राशनकार्डों, ऐसे सदस्य जिनकी मृत्यु हो चुकी है या विवाह तथा अन्यत्रा पलायन कर चुके हैं, उन्हें विलोपित करने हेतु जिला स्तर तथा ब्लॉक स्तर पर अलग-अलग टीम बनाकर चिन्हीकरण का कार्य किया जा रहा है. जिला कलेक्टर ने बताया कि ऐसे राशन कार्ड जिनमें सदस्यों की मृत्यु या शादी हो चुकी है तथा स्थाई रूप से पलायन या बहिर्गमन कर गए है या अन्य नए राशन कार्ड में नाम दर्ज हैं. ऐसे 5982 दोहरे दर्ज यूनिट्स को भी भौतिक सत्यापन कर डुप्लीकेट मानकर डिलीट की कार्यवाही की गई. डबल योजनाओं का लाभ उठा रहे लोगों का चिन्हीकरण किया गया.

10 से अधिक दर्ज यूनिटों वाले राशनकार्डों की होगी जांच
इसके अतिरिक्त खाद्य सुरक्षा सूची में शामिल 10 से अधिक यूनिट वाले राशनकार्ड की जांच भी करवायी जा रही है. साथ ही ऐसे राशन कार्ड धारक जिनका नाम गैर खाद्य सुरक्षा सूची में हैं तथा जिन्होंने अपने परिजनों का नाम खाद्य सुरक्षा सूची में दर्ज करवा रखा है, उनकी भी सघन जांच करवायी जा रही है.

सघन अभियान चलाकर सीडिंग का करवाया जा रहा है कार्य
राशनकार्ड से आधार सीडिंग का कार्य तेजी के साथ किया जा सके, इसके लिए जिला तथा ब्लॉक स्तर, बीएलओ, राशन डीलर के माध्यम से सघन अभियान चलाकर कार्य किया जा रहा है. साथ ही गैर कानूनी रूप से खाद्य सुरक्षा योजना (Food security scheme) का लाभ लेने वाले सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही कर वसूली की जा रही हैं.